About Me

header ads

JNU हिंसा के विरोध में RJD का प्रदर्शन, मोदी-नीतीश पर साधा निशाना


जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में सोमवार को हुए हिंसा के  में बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन देखने को मिला.

आरजेडी कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को पार्टी कार्यालय से इनकम टैक्स गोलंबर तक विरोध प्रदर्शन मार्च निकाला और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ हल्ला बोला.

आरजेडी के कार्यकर्ताओं ने इनकम टैक्स गोलंबर पहुंचकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का पुतला भी फूंका और जेएनयू जैसे प्रतिष्ठित संस्थान को बर्बाद करने का आरोप लगाया.

आरजेडी के आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की वजह से ही दिल्ली पुलिस ने वक्त रहते जेएनयू में घुसकर उपद्रवियों पर काबू नहीं पाया.

आरजेडी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्होंने जेन्यू हिंसा पर केंद्र सरकार को अपना मौन समर्थन दिया हुआ है.

प्रधानमंत्री और नीतीश कुमार का पुतला फूंकने के बाद आरजेडी कार्यकर्ताओं ने मांग की कि जेएनयू हिंसा की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए गृह मंत्री अमित शाह को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए.

एक आरजेडी कार्यकर्ता ने कहा, “जेएनयू में जिस प्रकार की हिंसा देखने को मिली है, उसके पीछे एबीवीपी के कार्यकर्ता है. केंद्र सरकार जेएनयू को बर्बाद कर देना चाहती है. इसीलिए इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया है. इस पूरे मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए गृह मंत्री अमित शाह को अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए.”