About Me

header ads

वशिष्ठ बाबू के बहाने लालू ने सीएम नीतीश पर किया कटाक्ष-मौत सबको आनी ही है


राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के बहाने बिहार की मौजूदा नीतीश सरकार पर निशाना साधा और मरणोपरांत वशिष्ठ नारायण सिंह के साथ किए गए व्यवहार पर दुख जताते हुए बिहार सरकार को आड़े हाथों लिया.

शुक्रवार को लालू के ट्विटर हैंडल से कई ट्वीट किए। पहले ट्वीट में लिखा गया कि  "कल (गुरुवार को) बिहार गौरव और हमारी सांझी धरोहर महान गणितज्ञ आदरणीय डॉक्टर वशिष्ठ नारायण सिंह जी के निधन की खबर सुनकर बहुत दुख हुआ. मौत सबको एक ना एक दिन आनी ही है, लेकिन मरणोपरंत जिस प्रकार उनके पार्थिव शरीर के साथ असंवेदनशील नीतीश सरकार द्वारा जो अमर्यादित सलूक किया गया, वह अतिनिंदनीय है.'

एक अन्य ट्वीट में लिखा गया, "क्या बड़बोली डबल इंजन सरकार उस महान विभूति को एक एंबुलेंस तक प्रदान नहीं कर सकती थी? मीडिया में बदनामी होने के बाद क्या किसी के पार्थिव शरीर को बीच सड़क रोककर उन्हें श्रद्धांजलि देना एक मुख्यमंत्री को शोभा देता है? क्या अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान मुख्यमंत्री उन्हें कभी देखने गए?"

एक अन्य ट्वीट में लालू प्रसाद ने राजद सरकार द्वारा सिंह के अच्छे अस्पताल में इलाज करवाने का दावा करते हुए कहा, "हमारे कार्यकाल में मैंने उनका अच्छे से अच्छे अस्पताल में इलाज करवाया. उनकी सेवा करने वाले पारिवारिक सदस्यों को सरकारी नौकरी दी, ताकि वो पटना में उनकी अच्छे से देखभाल कर सकें. महान गणितज्ञ आदरणीय डॉक्टर वशिष्ठ बाबू को कोटि-कोटि नमन और विनम्र श्रद्धांजलि.'

बता दें कि महान गणितज्ञ डॉ़क्टर वशिष्ठ नारायण सिंह का गुरुवार को पटना के पीएमसीएच अस्पताल में निधन हो गया था. उनके परिजनों ने आरोप लगाया है कि अस्पताल प्रशासन उन्हें सही समय पर एंबुलेंस तक नहीं उपलब्ध करा सका.