About Me

header ads

बंगाल के राज्यपाल को अब पुलिस नहीं, सीआरपीएफ के जवान देंगे सुरक्षा


बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankar) को अब जेड श्रेणी की सुरक्षा (Z Category Security) दे दी गई है. अब तक बंगाल के राज्यपाल (West Bengal Governor) कोलकाता पुलिस की सुरक्षा में चलते थे. उनकी सुरक्षा अब केंद्रीय सुरक्षा बल (CRPF) को तैनात किया जा रहा है. जादवपुर विश्वविद्यालय में जिस तरह से उनके साथ वर्ताव हुआ था उसके मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने राज्यपाल को जेड श्रेणी सुरक्षा देने का निर्णय लिया है.

राज्यपाल की सुरक्षा में सीआरपीएफ के चार से पांच जवान तैनात रहेंगे. इस संदर्भ में केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से केंद्रीय बल को निर्देश जारी कर कहा गया है कि सुरक्षाकर्मी देश भर में धनखड़ के कहीं भी जाने पर साथ तैनात रहेंगे. बंगाल के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष से लेकर राहुल सिन्हा, मुकुल राय, अर्जुन सिंह समेत कई भाजपा नेता केंद्रीय सुरक्षा बलों की सुरक्षा में चलते हैं.     

ज्ञात हो कि पिछले माह जादवपुर विश्वविद्यालय में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को वहां के वामपंथी समर्थित कुछ छात्रों ने घेर रखा था. घंटों बाद राज्यपाल खुद वहां बाबुल को मुक्त कराने पहुंचे थे. इस दौरान राज्यपाल को विरोध का सामना करना पड़ा और करीब एक घंटे तक छात्रों ने उन्हें भी घेरे रखा. इसे लेकर बंगाल भाजपा ने केंद्रीय गृह मंत्रालय से राज्यपाल की सुरक्षा में केंद्रीय अ‌र्द्धसैनिक बलों की तैनाती की मांग की थी.

सार्वजनिक पटल पर मतभेद

बंगाल का राज्यपाल नियुक्ति होने के बाद से राज्यपाल और राज्य सरकार के बीच कई बार सार्वजनिक पटल पर मतभेद खुलकर सामने आ चुका है फिर चाहे मामला जादवपुर विवि का हो या फिर मुर्शिदाबाद का तिहरे हत्याकांड में राज्यपाल द्वारा राज्य सरकार पर सवाल खड़ा किया जाना. इतना ही नहीं 11 अक्टूबर को बंगाल सरकार की ओर से आयोजित दुर्गा पूजा कार्निवल में अपमानित करने का आरोप भी राज्यपाल ने राज्य सरकार पर लगाया था.