About Me

header ads

PM मोदी की भतीजी से लूटपाट पर बोले मनोज तिवारी- अवैध घुसपैठिये जिम्मेदार


दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन मोदी के साथ लूट की घटना को बीजेपी ने सियासी रंग दे दिया है. दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस वारदात के लिए अवैध घुसपैठियों को जिम्मेदार ठहराया है साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ऐसे लोगों को बचा रहे हैं.

शनिवार की सुबह दिल्ली के सिविल लाइंस इलाके में पीएम मोदी के भतीजी दमयंती के साथ लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था. वह जब पुरानी दिल्ली इलाके से ऑटो लेकर अपने परिवार के साथ गुजराती समाज भवन पहुंचीं तब ऑटो से उतरते वक्त स्कूटी सवार दो बदमाश उनका पर्स छीनकर फरार हो गए. इस घटना के बाद दिल्ली पुलिस सकते में आ गई है और बदमाशों की तलाश में जुट गई है. लेकिन जब इस पूरी घटना पर मनोज तिवारी से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उनका जवाब अनोखा ही था.

'घुसपैठियों से केजरीवाल का भाईचारा'

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि राजधानी में लगातार लूट और स्नेचिंग की घटनाएं हो रही हैं और हम लगातार कहते आ रहे हैं कि इसके लिए 90 फीसदी अवैध घुसपैठिए जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री उन्हें अपना भाई बताकर पहले पूर्वांचलियों को दिल्ली से भगाने की बात करते हैं. तिवारी ने कहा कि ऐसा कहकर मुख्यमंत्री ऐसे घुसपैठियों को संरक्षण देने का काम कर रहे हैं.

मनोज तिवारी ने कहा कि जब दिल्ली पुलिस ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करती है तो यह बाहर चले जाते हैं लेकिन फिर से दिल्ली में घुस आते हैं. राजधानी के पॉश इलाके में प्रधानमंत्री के भतीजी के साथ हुई इस लूट की घटना से दिल्ली पुलिस पर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं साथ ही केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली में कानून व्यवस्था भी गृह मंत्रालय के जिम्मे है. ऐसे में लूट की बढ़ती घटनाएं कानून व्यवस्था पर सवाल जरूर करती है.

दमयंती के साथ ऐसे हुई लूट

दमयंती के साथ ऑटो से उतरते वक्त लूट की वारदात को अंजाम दिया गया. बदमाश उनका जो पर्स लेकर भागे उसमें करीब 56 हज़ार रुपये, दो मोबाइल और तमाम कागजात थे. दमयंती ने बताया कि उन्हें शाम को अहमदाबाद की फ्लाइट पकड़नी है, लेकिन उनके दस्तावेज गायब हो गए हैं. उन्होंने पुलिस से मामले की शिकायत कर दी है.

सिविल लाइंस को दिल्ली के पॉश इलाके में गिना जाता है जहां उप राज्यपाल के निवास से लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री का भी घर है. इस इलाके में सरकारी अधिकारियों को फ्लैट भी हैं और इलाके में पुलिस की पीसीआर वैन भी तैनात की गई हैं.