About Me

header ads

टूरिज्म इंडेक्स में भारत की ऊंची छलांग, 25 देशों को छोड़ा पीछे


भारत में टूरिज्म के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है. विदेशियों की भारत में रुचि धीरे-धीरे बढ़ रही है जिससे देश के पर्यटन क्षेत्र में लगातार सुधार हो रहा है. वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम की ताजा रिपोर्ट में भारत की 4 साल की रैंकिग में बड़ा उछाल दिख रहा है. 2015 में इस इंडेक्स में भारत 52वें स्थान पर था, जो 2019 में 34वें स्थान पर पहुंच गया है. भारत ने रैंकिंग में टॉप 25 देशों को पीछे छोड़ दिया है. रैंकिंग के साथ ही भारत के स्कोर में भी इजाफा हुआ है.

2015 में भारत का स्कोर 4.0 था जो 2019 में बढ़कर 4.4 हो गया है. आकड़ों के अनुसार भारत में स्वास्थ्य, स्वच्छता, सुरक्षा, टूरिस्ट सर्विसेज और इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार आया है जिसका फायदा रैंकिंग में मिला है. भारत के प्राकृतिक और सांस्कृतिक संसाधन भी विदेशियों को अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब रहे हैं.

इस इंडेक्स में कुल 140 देशों को शामिल किया गया है. डब्ल्यूईएफ के इस इंडेक्स में स्पेन टॉप पर है.  फ्रांस, जर्मनी, जापान, अमेरिका, यूके, ऑस्ट्रेलिया, ईटली, कनाडा और स्विट्जरलैंड टॉप 10 में शामिल हैं. गौर करने वाली बात ये है कि स्पेन साल 2015 से अब तक टॉप पर ही बना हुआ है. वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम की ये रिपोर्ट हर 2 साल में एक बार जारी की जाती है.

दक्षिण एशिया के अन्य देशों के मुकाबले भारत नें अपने व्यापार और पर्यटन क्षेत्र में जबरदस्त काम किया है. एशिया के अन्य देशों के मुकाबले भारत में किफायती दाम में अच्छी जगहें विदेशियों को अपनी तरफ खींच रहीं हैं. वर्ल्ड बैंक के अनुसार 2017 में लगभग 1.5 करोड़ विदेशी भारत घूमने आए थे.

भारत के टूरिस्ट इंडस्ट्री में 2.8 करोड़ लोग काम करते हैं जो 3.6 फीसदी जीडीपी का योगदान करते हैं.