*सामंती हो गए हैं सीएम नीतीश- सम्राट चौधरी*

पटना: बिहार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष सम्राट चौधरी ने बक्सर स्थित चौसा के किसानों को न्याय दिलाने के लिए गांधी मैदान के जे पी गोलंबर पर मौन धरना कार्यक्रम में शामिल होकर नीतीश सरकार के खिलाफ बड़ा हमला बोला है।




उन्होंने कहा कि बक्सर में किसानों की वाजिब मांग पर आधी रात को महिलाओं के साथ पुलिस की गुंडागर्दी दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं और केन्द्रीय मंत्री अश्वनी चौबे  जी के मौन उपवास कार्यक्रम का समर्थन करता हूं।

उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार अराजकता की दौर से गुजर रही है। गरीब किसानों के साथ अन्याय कर रही है। श्री चौधरी ने किसानों के हित में आवाज बुलंद करते हुए कहा कि अगर किसान आज जमीन दे रहे हैं, तो सरकार भी किसानों को आज की डेट में मुआवजा की राशि निर्धारित करे और बक्सर में बन रहे थर्मल पावर प्लांट में सबसे पहले स्थानीय लोगों को सेवा का मौका दें, वहां के मजदूरों को नौकरी दे।

श्री चौधरी ने ये भी कहा कि सीएम नीतीश कुमार जी अब सामंती हो गए हैं। 

उन्होंने (बक्सर-पटना सवारी गाड़ी) ट्रेन को घंटो रोककर नीतीश कुमार के काफिले को आगे बढ़ाने की घटना पर भी राज्य सरकार को घेर लिया और कहा कि तथाकथित समाधान यात्रा से लौटने के दौरान नीतीश कुमार जी के काफिले को पास कराने के लिए ट्रेनों को आउटर पर रोके रखना दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि इस दौरान ट्रेन में बैठे यात्रियों को कितनी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा होगा इसकी कल्पना नहीं की जा सकती है। इसलिए मैं सीएम कारकेड के लिए फाटक खोले जाने के मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग करता हूं कि किसके आदेश पर ट्रेन को रोका गया।