जजों को चुनाव नहीं लड़ना होता है', कानून मंत्री के इस बयान पर सीएम केजरीवाल बोले- ...जनता ऐसा कभी नहीं होने देगी

 

Arvind Kejriwal On Collegium: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी की केंद्र सरकार पर केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू की न्यायपालिका को लेकर की गई टिप्पणी को लेकर निशाना साधा.






Arvind Kejriwal On Collegium: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार (24 जनवरी) को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) नीत केंद्र सरकार न्यायपालिका पर ‘‘कब्जा’’ करना चाहती है.


सीएम अरविंद केजरीवाल ने न्यायिक प्रणाली पर केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू की हालिया टिप्पणी को भी ‘गलत’ करार दिया. केजरीवाल ने रिजिजू के संबोधन का एक वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘देश की सभी स्वतंत्र संस्थाओं पर गैर कानूनी रूप से कब्जा करने के बाद अब ये लोग न्यायपालिका पर कब्जा करना चाहते हैं. जनता ऐसा कभी नहीं होने देगी. न्यायपालिका के खिलाफ इस तरह की बयानबाजी सही नहीं है. ’’

कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने क्या कहा? 

कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने सोमवार (22 जनवरी) को तीस हजारी कोर्ट परिसर में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में कहा कि भारत के संविधान को 100 बार से ज्यादा संशोधन कर चुके हैं. चीफ जस्टिस, हाई कोर्ट के जज और सुप्रीम कोर्ट के कई वकीलों के साथ बैठक हुई और कई कार्यक्रम में साथ भी बैठे.










इस दौरान मैंने उनसे कई बार कहा कि अभी तो कानून मंत्री के तौर पर काम कर रहा हूं और जनता चाहेगी तो फिर सरकार बनेगी, लेकिन लोग नहीं चाहेंगे तो फिर विपक्ष में हमें बैठना होगा. हम फिर सरकार से सवाल करेंगे, लेकिन कोई इंसान जज बन गए तो उन्हें फिर कोई चुनाव का सामना तो करना नहीं है. जजों को सार्वजनिक जांच का सामना नहीं करना पड़ता है, लेकिन लोग उन्हें देखते हैं और न्याय देने के तरीके से उनका आकलन करते हैं. 

'लोग कैसा प्रस्तुत कर रहे हैं'

कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने साथ ही कहा था कि सरकार और न्यायपालिका के बीच मतभेद हो सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि दोनों एक-दूसरे पर हमला कर रहे हैं और ‘महाभारत’ हो रही है, जैसा कि कुछ लोगों द्वारा प्रस्तुत किया जा रहा है.

Previous Post Next Post