गांधी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में बिहार दिवस समारोह का हुआ उद्घाटन

*# गांधी मैदान में आयोजित कार्यक्रम में बिहार दिवस समारोह का हुआ उद्घाटन। उप मुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने सभी बिहारवासियों को बिहार दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी*


 पटना :बिहार दिवस के अवसर पर गांधी मैदान में आयोजित कार्यक्रम का विधिवत् उद्घाटन बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने किया। इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के साथ उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, शिक्षा मंत्री श्री विजय कुमार चौधरी, भवन निर्माण मंत्री श्री अशोक चौधरी ने संयुक्त रुप से गुब्बारा उड़ा कर कार्यक्रम की शुरुआत की।



      इस अवसर पर अपने संबोधन के दौरान बिहार के उप मुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने सभी बिहार वासियों को बिहार दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी एवं कहा कि बिहार वर्ष 1912 में पृथक् राज्य के रूप में अस्तित्व में आया। बिहार से ही संपूर्ण विश्व में ज्ञान और विज्ञान का प्रकाश फैला। यहां से बुद्ध और महावीर ने पूरी दुनिया को ज्ञान का संदेश दिया। विश्वप्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय ज्ञान का केंद्र रहा। आर्यभट्ट, चाणक्य जैसे विद्वानों की धरती हमारे बिहार का इतिहास गौरवपूर्ण एवं समृद्ध रहा है।

      उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि बिहार सरकार ने धूमिल और विलुप्त हो रही कई चीजों को संरक्षित एवं संवर्द्धित करने का काम शुरू किया है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री जी के आह्वान पर प्रत्येक वर्ष बिहारी अस्मिता और गौरव के लिए उद्घोष के साथ राजकीय समारोह के रूप में बिहार दिवस का आयोजन किया जाता है। उन्होंने कहा कि बिहार दिवस का आयोजन अब संस्थागत स्वरूप ले चुका है। आज का दिन सभी बिहारियों के लिए गौरव का दिन है। बेहद खुशी की बात है कि इस वर्ष बिहार दिवस के अवसर पर जल-जीवन-हरियाली का थीम रखा गया है। उन्होंने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान के माध्यम से मुख्यमंत्री जी के कुशल मार्गदर्शन में कार्य योजना पर काम चल रहा है, जिसके सकारात्मक परिणाम भी आने शुरू हो गए हैं। उन्होंने कहा कि गिरते भू-जल स्तर को ऊपर लाने, वैश्विक जल संकट को दूर करने, अतिवृष्टि एवं अनावृष्टि के कुप्रभावों को कम करने, पर्यावरणीय संतुलन को बरकरार रखने की दिशा में मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी के मार्गदर्शन में बिहार सरकार ने एक अभियान के रूप में इसकी शुरुआत की है और इसके लिए बजटीय प्रावधान भी किया गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री जी के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि आपने इस वैश्विक संकट को दूर करने के लिए जो अभियान छेड़ा है, उससे बिहार एक बार फिर अग्रणी भूमिका में शामिल हुआ है। जल संकट के इस वैश्विक विमर्श के दौर में आपने एक कदम आगे बढ़ाते हुए अनूठी पहल कर इसे मूर्त रूप दिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में बिहार में जो परिवर्तन हुआ है उससे बिहार के लोगों का विश्वास मजबूत हुआ है। 

     उन्होंने कहा कि भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने जस आत्मनिर्भर भारत का जो संकल्प लिया है, उसमें बिहार अग्रणी भूमिका निभाने वाला है। हम लोग यशस्वी बिहार के गौरवशाली अतीत के मजबूत बुनियाद पर स्वर्णिम बिहार के नव निर्माण के संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाएंगे।

      इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री श्री मदन सहनी, परिवहन मंत्री श्रीमती शीला कुमारी, मुख्यमंत्री के परामर्शी श्री अंजनी कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ,  मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव डॉ० एस. सिद्धार्थ, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री ब्रजेश मेहरोत्रा, शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री संजय कुमार, नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद किशोर, विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव गण, प्रधान सचिव गण, सचिव गण, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री गोपाल सिंह, माननीय विधायक, प्रमंडलीय आयुक्त, जिलाधिकारी, शिक्षा विभाग के क्षेत्रीय अधिकारी एवं अन्य वरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।