स्मार्ट सिटी की क्रियान्वित योजनाएं निर्धारित समयावधि पर पूर्ण की जाएं.. उपमुख्यमंत्री

बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने मुजफ्फरपुर एवं बिहारशरीफ में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत क्रियान्वित कार्यों की समीक्षा की, दिए आवश्यक निर्देश।





नगर विकास एवं आवास विभाग के सभागार में बिहार शरीफ एवं मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री श्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि स्मार्ट सिटी परियोजना के कार्य निर्धारित समयावधि में पूर्ण किये जाएं। सरकार की यह अत्यंत महत्वपूर्ण परियोजना है। उन्होंने कहा कि देश के समग्र विकास को बढ़ावा देने वाली इस योजना की शुरुआत शहरों की स्वच्छता और सौंदर्यीकरण के साथ-साथ तकनीकी रूप से आगे बढ़ाने के लिए की गई है, ताकि वहां के लोगों का जीवन स्तर सुधर सके। बिहार में पटना, भागलपुर, बिहारशरीफ और मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत चयनित शहर है। इन शहरों में आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए कई महत्वाकांक्षी योजनाओं की शुरुआत की गई है, ताकि यहां के नागरिकों को स्वच्छ और स्थायी वातावरण दिया जा सके। योजना के तहत इन शहरों में तकनीक को बढ़ावा दिए जाने के लिए काम किया जा रहा है, ताकि स्मार्ट परिणाम मिल सकें। 

    उन्होंने कहा कि इन शहरों का विकास का स्वरूप ऐसा होना चाहिए ताकि शहर में प्रवेश करते ही तमाम वातावरण एवं सुविधाएं स्मार्ट दिखें।

 गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी परियोजना के अंतर्गत सिवरेज के विकास एवं अंडर ग्राउंड मुख्य स्टॉर्म वॉटर ड्रेनेज योजना, सिकंदरपुर झील के सौन्दर्यीकरण, टाउन हॉल के जीर्णोद्धार, इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर, सिकंदरपुर स्टेडियम को मल्टीपर्पस स्पोर्ट्स स्टेडियम के रूप में पुनर्विकसित करने की योजना पर काम चल रहा है। सड़क जाम से मुक्ति हेतु मुजफ्फरपुर में छ: जंक्शन के निर्माण पर काम चल रहा है। अखाड़ा घाट से धर्मशाला चौक तक के सड़कों को पुनर्विकसित किया जा रहा है। रेलवे जंक्शन से बैरिया चौक होते हुए लक्ष्मी चौक तक के सड़क को भी पुनर्विकसित करने की योजना पर काम चल रहा है। इसके अलावा मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी के अंतर्गत सिटी पार्क, जुब्बा साहनी पार्क, स्मार्ट मिनी बस एवं ई-रिक्शा स्टॉप शेड इत्यादि अन्य विभिन्न महत्वपूर्ण योजनाओं पर पर काम चल रहा है। इसी प्रकार, बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी योजना के तहत 14 विभिन्न योजनाओं के कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं। बाजार समिति के विकास हेतु फेज-1 एवं फेज-2 के अंतर्गत कार्य चल रहा है। नालंदा महिला कॉलेज के विकास, नालंदा हेल्थ क्लब फेज-2, टिकुलीपार तालाब और सुभाष पार्क तालाब को पुनर्विकसित करने, 9 प्राथमिक विद्यालयों के अपग्रेडेशन सहित अन्य कई विभिन्न महत्वपूर्ण योजनाओं पर कार्य चल रहा है।



    उपमुख्यमंत्री ने क्रियान्वित सभी योजनाओं को निर्धारित समयावधि में शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी के तहत बनाए जा रहे पुस्तकालय में एक फ्लोर सामाजिक, साहित्यिक गोष्ठियों के लिए भी कर्णांकित रखी जाए, ताकि स्थानीय नागरिकों को सुविधा हो सके। उन्होंने मुजफ्फरपुर स्मार्ट सिटी परियोजना के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 15 अप्रैल तक हर हाल में नाला निर्माण के कार्य पूर्ण कराए जाएं ताकि जल-जमाव की समस्या से शहर को मुक्ति मिल सके।

      बैठक के दौरान नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव श्री आनंद किशोर, मुजफ्फरपुर के नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, बिहारशरीफ के नगर आयुक्त तरणजोत सिंह, स्मार्ट सिटी बिहारशरीफ के सीईओ श्री विनोद कुमार, नगर विकास एवं आवास विभाग के संयुक्त सचिव श्री विजय उपाध्याय सहित मुजफ्फरपुर एवं बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी परियोजना के अन्य वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।