Covid 19 India Update: कोरोना से अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर में सावधान रहने की जरूरत: स्वास्थ्य मंत्रालय

देश में कोरोना और टीकाकरण की स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 22,000 के करीब मामले दर्ज़ किए गए हैं। आज भी देश में हर रोज़ औसतन 20,000 के करीब मामले आ रहे हैं। पिछले हफ्ते 56 फीसद कोविड मामले केरल से दर्ज किए गए हैं। 5 राज्य ऐसे हैं जहां अभी भी 10,000 से ज्यादा सक्रिय मामले बने हुए हैं।

उन्होंने कहा कि केरल में 1,22,000 के करीब सक्रिय मामले हैं। महाराष्ट्र में 36,000 के करीब सक्रिय मामले हैं। तमिलनाडु, मिज़ोरम और कर्नाटक में भी सक्रिय मामले अधिक संख्या में हैं। अरुणाचल प्रदेश और असम में कुछ जिलों सहित 28 जिले हैं, जिनमें पाजिटिविटी रेट 5 फीसद और 10 फीसद के बीच है यानी उच्च संक्रमण दर। 34 जिले ऐसे हैं जो 10 फीसद से अधिक की साप्ताहिक पाजिटिविटी रेट दर्ज कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमें अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर के महीनों से सावधान रहने की जरूरत है। हमें सतर्क रहने की जरूरत है। हम अभी यह ना समझे की कोविड ख़त्म हो चुका है। हमारे सामने कोविड की कई सारी चुनौतियां हैं और हमें उस पर काम करने की ज़रूरत है। हमें अभी भी कोविड व्यवहार को बनाए रखना है।

ज्ञात हो कि बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 22,605 नए मामले सामने आए हैं। यह एक दिन में करीब 20 फीसदी का उछाल है। एक दिन पहले यानी बुधवार को कुल 18,833 नए मामले सामने आए थे। वहीं पिछले 24 घंटे में 315 लोगों की मौत हुई है। इस दौरान 24,611 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त भी हुए हैं। त्योहारी सीजन में भीड़भाड़ बढ़ने से इस संख्या में और इजाफा होने की आशंका है। इसे देखते हुए यूपी, महाराष्ट्र, गुजरात समेत कई राज्यों ने दिशा- निर्देश जारी किए हैं।

त्योहारों में राज्यों ने जारी सख्त गाइडलाइन

- महाराष्ट्र में गरबा कार्यक्रमों की अनुमति नहीं

- गुजरात में गरबा कार्यक्रमों के आयोजन की अनुमति

- भीड़ की सीमा को 400 लोगों तक सीमित किया

- यूपी में कार्यक्रम के दौरान अधिक लोग नहीं होने चाहिए

- कर्नाटक में सांस्कृतिक कार्यक्रम में भारी पुलिस सुरक्षा

- पश्चिम बंगाल के पंडालों में प्रवेश द्वार अलग-अलग होने चाहिए

- नागालैंड में पंडालों में सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक समय सीमित

उन्होंने कहा कि लक्षद्वीप, चंडीगढ़, गोवा, हिमाचल प्रदेश, अंडमान और निकोबार और सिक्किम ने अपनी 100 फीसद आबादी को टीके की पहली खुराक से टीका लगाया है।