महिला खिलाड़ियों ने जगायी उम्मीद, निशानेबाजों और हॉकी टीम ने किया निराश


तोक्यो : पी वी सिंधू, मनिका बत्रा और एमसी मैरीकॉम ने तोक्यो ओलंपिक में अपने मुकाबले जीतकर निशानेबाजों के लगातार दूसरे दिन के खराब प्रदर्शन से निराश भारतीय खेमे में उम्मीद की किरण जगायी लेकिन आखिर में पुरुष हॉकी टीम की आस्ट्रेलिया के हाथों 1-7 की शर्मनाक हार असहनीय बन गयी।

भारोत्तोलक मीराबाई चानू के प्रतिस्पर्धा के पहले दिन रजत पदक जीतने के बाद सिंधू और मैरीकॉम ने अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करके अगले दौर में जगह बनायी। मनिका को संघर्ष करना पड़ा लेकिन वह भी टेबल टेनिस के तीसरे दौर में पहुंचने में सफल रही। चानू के पदक की बदौलत भारत पदक तालिका में अभी संयुक्त 21वें स्थान पर है।

निशानेबाज दूसरे दिन भी पदक से वंचित रहे लेकिन भारत को सबसे अधिक निराशा पुरुष हॉकी टीम से मिली जिसे आस्ट्रेलिया ने पूरे 60 मिनट तक अपने इशारों पर नचाया।आस्ट्रेलिया की तरफ से डेनियल बील (10वें), जेरेमी हेवार्ड (21वें), फ्लिन ओगलीवी (23वें), जोशुआ बेल्ट्ज (26वें), ब्लैक गोवर्स (40वें और 42वें) और टिम ब्रांड (51वें मिनट) ने गोल किये। भारत के लिये दिलप्रीत सिंह ने 34वें मिनट में एकमात्र गोल किया। ग्राहम रीड के कोच बनने के बाद यह भारत की सबसे बुरी हार है।

निशानेबाजी में रियो ओलंपिक से चली आ रही निराशा तोक्यो में लगातार दूसरे दिन भी जारी रही। महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल में मनु भाकर और यशस्विनी सिंह देसवाल तथा पुरुषों के 10 मीटर एयर राइफल में दीपक कुमार और दिव्यांश सिंह पंवार फाइनल्स के लिये क्वालीफाई नहीं कर पाये। दुनिया की दूसरे नंबर की निशानेबाज 19 वर्ष की मनु ने शुरूआत अच्छी की और लग रहा था कि वह शीर्ष आठ में जगह बना लेंगी लेकिन उनकी पिस्टल में तकनीकी खराबी आने का उनके प्रदर्शन पर असर पड़ा और आखिर में वह 12वें स्थान पर रही। मनु का स्कोर 575 रहा जबकि कट आफ 577 पर गया। ओलंपिक में पहली बार भाग ले रही एक अन्य निशानेबाज यशस्विनी सिंह देसवाल ने खराब शुरुआत से उबरकर 574 का स्कोर बनाया और वह 13वें स्थान पर रहीं।

पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में दीपक कुमार और दिव्यांश सिंह पंवार क्रमश: 26वें और 32वें स्थान पर रहकर क्वालीफिकेशन से ही बाहर हो गये। दीपक ने आखिर में छह सीरिज में 624.7 अंक और दिव्यांश ने 622.8 अंक बनाये। स्कीट में अंगद वीर बाजवा तीन दौर के बाद 73 अंक लेकर 11वें स्थान पर चल रहे हैं और फाइनल्स में जगह बनाने की दौड़ में हैं। एक अन्य स्कीट निशानेबाज मैराज खान 71 का स्कोर बनाकर 25वें स्थान पर हैं।

बैडमिंटन में भारत की पदक उम्मीद विश्व चैम्पियन सिंधू ने महिला एकल में इस्राइल की सेनिया पोलिकारपोवा पर सीधे गेमों में आसान जीत दर्ज की। रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता छठी वरीयता प्राप्त सिंधू ने 58वीं रैंकिंग वाली इस्राइली प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 21-7, 21-10 से 28 मिनट में यह मुकाबला अपने नाम किया। दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधू का सामना अब हांगकांग की चियुंग एंगान यि से होगा जो विश्व रैंकिंग में 34वें स्थान पर हैं ।

मुक्केबाजी और टेबल टेनिस में भारत के लिये रविवार का दिन मिश्रित सफलता वाला रहा। मुक्केबाजी में छह बार की विश्व चैम्पियन मैरीकॉम (51 किग्रा) ने शुरूआती दौर में डोमेनिका गणराज्य की मिगुएलिना हर्नांडिज गार्सिया को हराकर ओलंपिक खेलों के प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। लंदन ओलंपिक 2012 की कांस्य पदक विजेता मैरीकॉम ने पैन अमेरिकी खेलों की कांस्य पदक विजेता को 4-1 से शिकस्त दी, लेकिन पुरुष वर्ग में मनीष कौशिक को ब्रिटेन के ल्यूक मैकोरमैक से इसी अंतर से हार का सामना करना पड़ा।

टेबल टेनिस में विश्व रैंकिंग में 62वें नंबर की मनिका ने यूक्रेन की 20वीं वीं वरीयता प्राप्त मारग्रेट पेसोत्सका को 57 मिनट तक चले संघर्षपूर्ण मुकाबले में शुरू में पिछड़ने के बाद 4-3 से (4-11, 4-11, 11-7, 12-10, 8-11, 11-5, 11-7) से हराया। तीसरे दौर में उनका मुकाबला सोमवार को आस्ट्रिया की सोफिया पोलकानोवा से होगा। इससे पहले जी साथियान ने पुरुष एकल वर्ग के दूसरे दौर में हांगकांग के लाम सियू हांग के खिलाफ एक समय 3-1 से बढ़त बना रखी थी लेकिन आखिर में वह इस मैच को 3-4 (7-11, 11-7, 11-4, 11-5, 9-11, 10-12, 6-11) से हार गये।

टेनिस में सानिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी महिला युगल में यूक्रेन की नादिया और लियुडमाइला किचेनोक बहनों से 6-0, 7-6, 10-8 से हारकर बाहर हो गई । जिम्नास्टिक में भारत की अकेली जिम्नास्ट प्रणति नायक कलात्मक जिम्नास्टिक स्पर्धा के आल राउंड फाइनल्स में जगह बनाने में असफल रही।

नौकायन में अर्जुन लाल जाट और अरविंद सिंह ने तोक्यो ओलंपिक में पुरूषों की नौकायन लाइटवेट डबलस्कल्स स्पर्धा के रेपेशाज दौर में तीसरे स्थान पर रहकर सेमीफाइनल में जगह बना ली । 

सेलिंग (पाल नौकायन) में नेत्रा कुमानन दो रेस के बाद 27वें स्थान पर चल रही हैं जबकि विष्णु सरवनन अपनी पहली रेस के बाद 14वें स्थान पर हैं। 

तैराकी में माना पटेल महिलाओं की 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा में अपनी हीट में दूसरे स्थान पर रहते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाने में नाकाम रही। पुरुषों की 50 मीटर बैकस्ट्रोक में श्रीहरि नटराज अपनी हीट में पांचवें स्थान पर रहे और इस तरह से सेमीफाइनल में जगह बनाने में असफल रहे।