West Bengal: आधुनिकता की बेजोड़ मिसाल होगा कोलकाता का जोका मेट्रो कॉरिडोर

रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) की ओर से जोका-इस्प्लानेड मेट्रो कॉरिडोर परियोजना पर काम तेजी से चल रहा है। यह मेट्रो कॉरिडोर अपने आप में आधुनिकता की मिसाल होगा। सभी सुविधाओं से लैस मेट्रो यात्रियों को बिल्कुल नयापन महसूस करवाएगा। वैसे पहले चरण में एलिवेटेड (ऊपरी) मेट्रो शुरू होगी। इसके बाद ही अंडरग्राउंड मेट्रो शुरू किया जा सकेगा। मेट्रो जब शुरू होगी, उस दौरान सभी आधुनिक परिसेवाओं का ध्यान रखा जा रहा है। यही वजह है कि जोका में वृहत्तर डिपो का भी निर्माण जोरों पर चल रहा है, ताकि आसानी से कम समय में यात्रियों को एक जगह से दूसरी जगह जाने में सहूलियत हो सके।

करीब 17 कि.मी. की कुल परियोजना को लेकर आशा की जा रही है कि इसी साल तारातल्ला तक पहले चरण की सौगात मिल सकती है। हालांकि आम यात्री अगले साल ही सफर का आनंद ले सकेंगे। पहले चरण में रेलवे ट्रैक बिछाने का काम पहले ही पूरा हो चुका है, कुछ बाकी कार्यों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

खास डिजाइन भी

पहले चरण के स्टेशनों को सजाने का काम इन दिनों जोरों पर चल रहा है। साखेरबाजार मेट्रो स्टेशन पर बंगाल की संस्कृति को दर्शाते हुए डिजाइन भी बनाई जा रही है। इसके अलावा अन्य स्टेशनों पर भी विशेष कला की झलक नजर आएगी।

पहले चरण में करीब 7 ‌कि.मी. का सफर

जोका से इस्प्लानेड मेट्रो कॉरिडोर के तहत पहला चरण तारातल्ला तक होगा। यह करीब सात किलोमीटर का सफर होगा। इसमें 7 स्टेशन शामिल हैं। इनका निर्माण कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इसके अलावा ‘बैलास्टलेस ट्रैक’ बिछाए जा रहे हैं। इस आधुनिक मेट्रो परिसेवा में ट्रेन के चलने के दौरान हिलने-डुलने की संभावना कम रहती है। पहले चरण में जोका से शुरू होकर मेट्रो तारातल्ला तक पहुंचेगी। जोका के बाद ठाकुरपुकुर, साखेरबाजार, बेहला चौरस्ता, बेहला बाजार, तारातल्ला मेट्रो स्टेशन होगा। वैसे कुल परियोजना करीब 17 ‌कि.मी. की है, जो कि एस्प्लानेड तक है।