चीन की कई कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर रहा अमेरिका, मानवाधिकारों के हनन का आरोप


चीन में लगातार मानवाधिकारों के हनन के आरोप लगते रहे हैं। इससे खफा अमेरिकी राष्ट्रपति joe biden प्रशासन चीन की 10 और कंपनियों को आर्थिक तौर पर ब्लैकलिस्ट करने की तैयारी में है। इसके अलावा कई और चीनी संस्थाओं को भी ब्लैकलिस्ट किया जाएगा। चीन के शहर Xinjiang में कथित मानवाधिकारों के हनन और हाई-टेक निगरानी को लेकर इन्हें आर्थिक ब्लैकलिस्ट सूची में डालने की तैयारी है। सूत्रों के जरिये ये जानकारी सामने आई है।

अमेरिकी कॉमर्स डिपार्टमेंट पिछले महीने घोषित पांच अन्य चीनी संस्थाओं को भी ब्लैकलिस्ट करेगी। इन पर जबरन श्रम कराने का आरोप है। सूत्रों ने कहा कि कॉमर्स डिपार्टमेंट की सूची में नए जोड़े जाने वाले नाम चीन में मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए जिम्मेदार होने पर बिडेन प्रशासन के चल रहे प्रयासों का हिस्सा हैं।

हालांकि, कुल कितनी संस्थाओं को ब्लैकलिस्ट क्या जाएगा इसका खुलासा अभी नहीं हो पाया है। आज दूसरे देशों की कुछ कंपनियों को भी ब्लैक लिस्ट में शामिल किया जाना तय है। इस मसले पर हाल-फिलहाल व्हाइट हाउस ने किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, जबकि कॉमर्स डिपार्टमेंट ने कमेंट के अनुरोध का तुरंत जवाब नहीं दिया।