Bengal Election Result: बंगाल में भाजपा के काम नहीं आया सोनार बांग्ला का दांव, भारी पड़ा ममता का 'खेला होबे'

 

2011 में मां माटी मानुष के नारे के साथ 34 साल लंबे वाममोर्चा शासन का अंत कर बंगाल की सत्ता पर काबिज होने वाली ममता बनर्जी को पटखनी देने के लिए इस विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 'सोनार बांग्ला' का दांव चला था। भगवा दल ने पूरे चुनावी अभियान के दौरान जोर- शोर से बंगाल के लोगों को सोनार बांग्ला बनाने का सपना दिखाकर अपनी ओर खींचने की भरपूर कोशिश की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृहमंत्री अमित शाह सभी की जुबान पर बस एक ही नारा सोनार बांग्ला का था। यहां तक कि अपने चुनावी घोषणापत्र तक का नाम भाजपा ने 'सोनार बांग्ला संकल्प पत्र 2021' रखा था। इसमें लोकलुभावन वादों की पार्टी ने झड़ी लगा दी थी। लेकिन, ममता बनर्जी के करिश्माई नेतृत्व के आगे भाजपा का सोनार बांग्ला का दांव धाराशायी हो गया। दरअसल, बंगाल चुनाव में भाजपा की आक्रामक प्रचार व रणनीति की काट के लिए ममता ने चुनाव प्रचार के दौरान खेला होबे (खेला होगा) का नारा दिया।

तृणमूल के प्रचार के लिए तैयार किए गए गीत में से लिया गया यह नारा देखते ही देखते इतना हिट हो गया कि यहां के बच्चे-बच्चे की जुबान पर 'खेला होबे' सुनाई देने लगा। यही नहीं पीएम मोदी व अन्य भाजपा नेताओं की जुबान पर भी यह नारा चढ़ गया और उन्होंने इसकी काट के तौर पर विकास होबे (विकास होगा) की बात कहकर ममता को घेरने की पूरी कोशिश की। साथ ही खेला होबे को तृणमूल नेताओं के कथित भ्रष्टाचार, कटमनी से भी जोड़कर उन्होंने घेरने की कोशिश की। लेकिन ममता के खेला होबे के नारे व बंगाली अस्मिता के दांव के आगे सोनार बांग्ला का नारा कमजोर साबित हुआ और बंगाल की शेरनी ने खेला कर दिखाया।

पूरे चुनाव के दौरान ममता ने अपनी हर रैली में खेला होबे को खूब उछाला। उन्होंने इस दौरान कहा, 'खेला होबे। हम खेलेंगे, हम लड़ेंगे, हम जीतेंगे।' दरअसल, ममता समझ गई थी कि फुटबॉल व क्रिकेट के शौकीन बंगाल लोगों को 'खेला होबे' खूब पसंद आ रहा है, ऐसे में उन्होंने इसे भुनाने की पूरी कोशिश की। दूसरी ओर, तृणमूल ने अपने प्रचार में भी 'खेला होबे' के नारे को ही अपना हथियार बना लिया। इंटरनेट मीडिया पर भी यह नारा खूब लोकप्रिय हुआ। इसका परिणाम है कि तृणमूल ने 2011 व 2016 से भी इस बार बड़ी जीत हासिल की है। इधर, तृणमूल की प्रचंड जीत के बाद तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने खुद कहा कि खेला होबे के नारे से चुनाव में उन्हें खूब फायदा हुआ है।