कोरोना को एक समय में एक देश नहीं हरा सकता, सभी देशों को होना होगा एकजुट- एंतोनियो गुतेरस

कोरोना महामारी से निपटने को लेकर संयुक्त राष्ट्र महासचिव (UN Secretary-General Antonio Guterres) का ताजा बयान आया है। एंतोनियो गुतेरस ने कहा कि एक समय में एक देश इस महामारी को नहीं हरा सकता है, इससे लड़ने के लिए सभी देशों को एकजुट होना होगा। जिनेवा में सोमवार को विश्व स्वास्थ्य सभा में एक वीडियो संदेश के जरिए उन्होंने कहा कि विश्व के नेताओं को टीकों की समान पहुंच के लिए वैश्विक योजना के साथ तत्काल कदम उठाने चाहिए। साथ ही कोरोना परीक्षण और उपचार के लिए भी एकजुटता दिखानी चाहिए तभी इस महामारी को हराया जा सकता है। 

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने जी-20 टास्क फोर्स के लिए अपील दोहराते हुए कहा कि यह वैक्सीन उत्पादन क्षमता वाले सभी देश, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), एसीटी-एक्सेलरेटर पार्टनर्स और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों को एकजुट करता है। इसलिए टास्क फोर्स का लक्ष्य सभी विकल्पों को जानने के बाद डबल मैन्युफैक्चरिंग होना चाहिए। 

इसके साथ ही गुतरेस ने कहा कि महामारी के शुरु में ही उन्होंने इसके संक्रमण के बारे में चेतावनी दी थी, लेकिन दुख की बात है कि इससे निपटने के लिए अब हम कार्य कर रहे हैं। हम ऐसी स्थिति का सामना कर रहे हैं कि अमीर देश अपने अधिकांश लोगों का टीकाकरण करते हुए अपनी अर्थव्यवस्थाओं को मजबूत कर रहे हैं , जबकि यह वायरस गरीब देशों में तेजी से फैल रहा है। आगे उन्होंने कहा कि अगर आगे ऐसा ही होता रहा तो काफी संख्या में लोगों की कोरोना से मौत होगी। ऐसे में सभी देशों को एकजुट होना होगा। 

गुतरेस ने क कहा कि डब्ल्यूएचओ को वैश्विक महामारी की तैयारियों के केंद्र में होना चाहिए, उसे टिकाऊ और अनुमानित संसाधनों की जरूरत है।  मांग के मुताबिक डब्ल्यूएचओ को काम करने के लिए पूरी तरह से सशक्त होना चाहिए। गुतरेस ने कहा, 'दुनिया को भविष्य के लिए उपयुक्त अंतरराष्ट्रीय सहयोग और एकजुटता के लिए एक रूपरेखा की आवश्यकता है। जिसके जरिए इस बीमारी से लड़ा जा सकता है।