Corona Holi Guidelines : कोरोना ने डाला होली के रंग में भंग, सख्‍ती बढ़ी, जानें अपने राज्य की गाइडलाइंस

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों ने होली के रंग में भंग डाल दिया है। कई राज्‍यों में कोरोना से हालात काफी खराब होते नजर आ रहे हैं। ऐसे में प्रशासन ने कई पाबंदियां कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाई हैं। कई राज्‍यों ने होली पर सार्वजनिक समारोह आयोजित करने पर रोक लगा दी गई है। दिल्‍ली, महाराष्‍ट्र, उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा, बिहार, गुजरात, मध्‍य प्रदेश और चंडीगढ़ में होली के दौरान सार्वजनिक उत्‍सवों पर प्रतिबंध लगाया गया है। आइए आपको बताते राज्‍यों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए क्‍या-क्‍या गाइडलाइंस की गई हैं जारी।

दिल्‍ली में सार्वजनिक स्थानों पर होली मनाने पर रोक

दिल्‍ली में भी कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सार्वजनिक तौर पर किसी भी होली समारोह में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने रविवार को ट्वीट कर कहा कि पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामले बढ़े हैं। इसी के मद्देनजर इस बार सार्वजनिक तौर पर आयोजित हो रहे होली कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो रहा हूं। आप सभी से अपील है कि केवल परिवार के साथ घर में होली मनाएं और भीड़-भाड़ वाले कार्यक्रमों से बचें और कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करें। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने शहर में सार्वजनिक स्थानों पर होली मनाने पर रोक लगा रखी है। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर अब शादी समारोह में शामिल होने वाले अधिकतम लोगों की संख्या घटाकर 100 कर दी गई है। साथ ही किसी अंतिम संस्कार में 50 से ज्यादा लोग एकत्र नहीं हो सकते। यह आदेश 30 अप्रैल तक लागू रहेगा।

महाराष्‍ट्र में होली समारोह के साथ राजनीतिक सभाओं पर भी प्रतिबंध, लॉकडाउन की तैयारी

महाराष्‍ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले देशभर में सबसे ज्‍यादा देखे जा रहे हैं। प्रतिदिन 30 हजार से ज्‍यादा कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं। ऐसे में राज्‍य सरकार ने होली समेत सभी समारोह पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। राज्‍य में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। सभी रेस्‍तरां, मॉल और पार्क रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक बंद रहेंगे। प्रशासन ने होली पर सावर्जनिक समारोह की सख्‍ती से मनाही की गई है। मुंबई की मेयर ने लोगों से अपील की है कि वे घर पर ही रहकर होली मनाएं।

शिवराज बोले- आपात स्थिति हो तो उत्सव को मनाने के तरीके बदलने होंगे

मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उत्सव और आनंद परंपरा है, लेकिन आपात स्थिति हो तो इन्हें मनाने के तरीके बदलने होंगे। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते प्रदेश की जनता होली तथा अन्य त्योहारों पर संयम और अनुशासन बनाए रखे। मैंने स्वयं इस वर्ष कोरोना के संक्रमण को देखते हुए 'मेरी होली--मेरे घर' का पालन करते हुए परिवार के साथ ही होली मनाने का निर्णय लिया है। सभी प्रदेशवासियों से भी अपील है कि वे भी घर पर ही होली मनाएं। मुख्यमंत्री चौहान ने धर्मगुरुओं, राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों से अपील की कि सभी कोरोना के विरूद्ध इस युद्ध में एकजुट होकर परिस्थितियों का सामना करें और यह संदेश दें कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हम सब एक हैं। वहीं, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने प्रदेशवासियों को होली की शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने अपील की कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए त्योहार मनाएं। यह पर्व एकता, सद्भाव, समरसता और भाईचारे का प्रतीक है। घर पर रहकर ही पर्व का आनंद उठाएं। बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते मध्य प्रदेश के 12 शहरों में संडे लॉकडाउन है।

इन राज्‍यों में भी होली पर सख्‍ती

हरियाणा में कोरोन के बढ़ते मामलों के मद्देनजर होली के त्यौहार को लेकर सार्वजनिक उत्सव पर रोक है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट करते हुए कहा कि सरकार ने होली के सार्वजनिक समारोह पर प्रतिबंध हैं। सभी लोग इसका पालन करें। बिहार में होली के दिन सार्वजनिक स्थलों पर एकत्रित होकर किसी भी प्रकार की गतिविधि और आयोजन की अनुमति नहीं है। गुजरात में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए होली के दौरान सार्वजनिक उत्सव पर प्रतिबंध लगाया गया है। वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चंडीगढ़ प्रशासन ने होली मिलन समारोहों को रद्द कर दिया है. साथ ही होटल्स, रेस्टोरेंट्स या क्लब में भी होली कार्यक्रम करने पर पाबंदी है।