बहराइच में रखी जाएगी सुहेलदेव स्मारक स्थल की आधारशिला, वीसी से जुड़ेंगे पीएम नरेंद्र मोदी

देश की आजादी में बड़ी भूमिका अदा करने वाले महाराजा सुहेलदेव की जयंती पर आज उत्तर प्रदेश सरकार को बड़ा सम्मान देगी। बहराइच में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महाराजा सुहेलदेव स्मारक स्थल चित्तौरा पहुंचेंगे। वहां पर वह 11 बजे शुभ मुहूर्त में स्मारक स्थल के उत्थान की आधारशिला रखेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल के माध्यम से महाराजा सुहेलदेव की गौरवगाथा का बखान करेंगे।

बहराइच के चित्तौरा झील एवं कार्यक्रम स्थल को इस अवसर पर बेहद आकर्षक ढंग से सजाया गया है। बहराइच के प्रभारी मंत्री अनिल राजभर एवं कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा इस कार्यक्रम की तैयारी में लम्बे समय से लगे हैं। मंगलवार को पर्यटन मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी यहां पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत करेंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार 16 फरवरी को प्रदेश भर में महाराजा सुहेलदेव की जयंती को बना रही है। इस अवसर पर बहराइच में बड़ा आयोजन किया जा रहा है। जिसका आगाज सीएम योगी आदित्यनाथ चित्तौरा स्मारक स्थल के कायाकल्प की नींव रखकर करेंगे। मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर से पहुंचेगें। वह सीधे पूजन स्थल जाएंगे। यहां पुरोहितों की टीम मंत्रोच्चार के बीच पूजन कराएगी। यहां से स्मारक स्थल पहुंचकर महाराजा सुहेलेदव की प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे। इसके बाद 11 बजे प्रधानमंत्री मोदी वर्चुअल माध्यम से जुड़ेंगे। 12 बजे सीएम पूरे स्थल का भ्रमण करेंगे। इसके बाद 12.30 बजे वह मंच पर पहुंचेंगे। इस कार्यक्रम को लेकर बहराइच-गोंडा हाईवे से लेकर पांच किलोमीटर की परिधि को भगवा रंग से सजा दिया गया है।

आधी आबादी को देंगे तोहफा: हुनर के माध्यम से सफलता की इबारत लिखने वाली समूह की आधी आबादी के तीन समूह को सीएम योगी आदित्यनाथ माल वाहक वाहन की चाबी सौपेंगे।

सवदेश की आजादी में बड़ी भूमिका अदा करने वाले महाराजा सुहेलदेव की जयंती पर आज उत्तर प्रदेश सरकार को बड़ा सम्मान देगी। बहराइच में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महाराजा सुहेलदेव स्मारक स्थल चित्तौरा पहुंचेंगे। वहां पर वह 11 बजे शुभ मुहूर्त में स्मारक स्थल के उत्थान की आधारशिला रखेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल के माध्यम से महाराजा सुहेलदेव की गौरवगाथा का बखान करेंगे।

बहराइच के चित्तौरा झील एवं कार्यक्रम स्थल को इस अवसर पर बेहद आकर्षक ढंग से सजाया गया है। बहराइच के प्रभारी मंत्री अनिल राजभर एवं कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा इस कार्यक्रम की तैयारी में लम्बे समय से लगे हैं। मंगलवार को पर्यटन मंत्री डॉ. नीलकंठ तिवारी यहां पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत करेंगे।

उत्तर प्रदेश सरकार 16 फरवरी को प्रदेश भर में महाराजा सुहेलदेव की जयंती को बना रही है। इस अवसर पर बहराइच में बड़ा आयोजन किया जा रहा है। जिसका आगाज सीएम योगी आदित्यनाथ चित्तौरा स्मारक स्थल के कायाकल्प की नींव रखकर करेंगे। मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर से पहुंचेगें। वह सीधे पूजन स्थल जाएंगे। यहां पुरोहितों की टीम मंत्रोच्चार के बीच पूजन कराएगी। यहां से स्मारक स्थल पहुंचकर महाराजा सुहेलेदव की प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे। इसके बाद 11 बजे प्रधानमंत्री मोदी वर्चुअल माध्यम से जुड़ेंगे। 12 बजे सीएम पूरे स्थल का भ्रमण करेंगे। इसके बाद 12.30 बजे वह मंच पर पहुंचेंगे। इस कार्यक्रम को लेकर बहराइच-गोंडा हाईवे से लेकर पांच किलोमीटर की परिधि को भगवा रंग से सजा दिया गया है।

आधी आबादी को देंगे तोहफा: हुनर के माध्यम से सफलता की इबारत लिखने वाली समूह की आधी आबादी के तीन समूह को सीएम योगी आदित्यनाथ माल वाहक वाहन की चाबी सौपेंगे।

सवा लाख दीपों से प्रज्वलित होगा तट: सुहेलदेव के पराक्रम की गवाह रही चित्तौरा झील पर सायंकाल छह बजे सवा लाख दीप प्रज्वलित किए जाएंगे। हर ब्लॉक को नौ से 10 हजार दीप प्रज्वलन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके पूर्व कवि सम्मेलन भी श्रोताओं के आकर्षण का केंद्र बनेगा।

बनाया गया सेफ हाउस: ब्लॉक परिसर में सेफ हाउस बनाया गया है। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम तैनात की गई है। यह टीम सुबह आठ बजे से उनके जाने तक सेफ हाउस में मुस्तैद रहेगी। जरूरी संसाधन, दवाएं व ब्लड संरक्षित किया गया है, ताकि आपात स्थिति से निपटा जा सके।

लाख दीपों से प्रज्वलित होगा तट: सुहेलदेव के पराक्रम की गवाह रही चित्तौरा झील पर सायंकाल छह बजे सवा लाख दीप प्रज्वलित किए जाएंगे। हर ब्लॉक को नौ से 10 हजार दीप प्रज्वलन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके पूर्व कवि सम्मेलन भी श्रोताओं के आकर्षण का केंद्र बनेगा।

बनाया गया सेफ हाउस: ब्लॉक परिसर में सेफ हाउस बनाया गया है। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम तैनात की गई है। यह टीम सुबह आठ बजे से उनके जाने तक सेफ हाउस में मुस्तैद रहेगी। जरूरी संसाधन, दवाएं व ब्लड संरक्षित किया गया है, ताकि आपात स्थिति से निपटा जा सके।

ADVERTISEMENT