मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर नजर आएंगे जनता के दरबार में, सुनेंगे लोगों की शिकायतें


बिहार में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार फिर से जनता दरबार लगाकर लोगों की शिकायतें और सुझाव सुनेंगे। मुख्‍यमंत्री का यह कार्यक्रम पहले काफी लोकप्रिय था, लेकिन इसे कुछ महीनों से स्‍थगित कर दिया गया था। जनता के दरबार में मुख्यमंत्री (Janta Ke Darbar Men Mukhyamantri) कार्यक्रम पुन: अप्रैल या फिर मई के पहले हफ्ते से आरंभ होगा। विधानसभा स्थित अपने कक्ष में पत्रकारों से अनौपचारिक चर्चा के क्रम में मुख्यमंत्री ने खुद ही इसका ऐलान किया है।

पूर्व में जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम मुख्यमंत्री आवास के एक हिस्से में होता था पर वहां निर्माण होने की वजह से अब यह कार्यक्रम मुख्यमंत्री सचिवालय संवाद परिसर में होगा। वहां इस आयोजन के लिए निर्माण चल रहा है। इस कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री को सीधे बिहार के हर हिस्‍से से आने वालों से रूबरू होने का मौका मिलता है। इस तरह उन्‍हें पूरे राज्‍य की सही और पक्‍की जानकारी भी मिलती रहती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में आयी शिकायतों के आधार पर उन्होंने शिकायतों के निष्पादन की पूरी तरह से वैधानिक व्यवस्था की थी। वह तो चल रहा है। पर हाल के वर्षोंं में अपने दौरे के क्रम में उन्होंने यह पाया कि लोग मिलकर अपनी बात कहना चाहते हैं। इसमें उन्हें अधिक संतोष का अनुभव होता है। लोग फीडबैक भी देते हैं। इस बात को ध्यान में रख उन्होंने पुन: जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के आयोजन का फैसला किया है।