कोषागार के कार्यों में पारदर्शिता लाएं:डीएम

-डीएम ने किया कोषागार का औचक निरीक्षण

सूरज कुमार

गया।डीएम अभिषेक सिंह द्वारा ज़िला कोषागार कार्यालय का बुधवार को औचक निरीक्षण करते हुए कोषागार के कार्यों में पारदर्शिता लाने का निदेश दिया, ताकि इससे संबंधित पेंशनर एवं कार्यालयों को त्वरित गति से सही जानकारी प्राप्त हो सके। 

डीएम द्वारा मुख्य रूप से पेंशन कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया गया कि जो पेंशनर हैं उन्हें नियमानुसार हर सुविधा उपलब्ध कराते हुए उनके कार्यों का निष्पादन तेजी से करें। उन्होंने लंबित पेंशन कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने जानकारी प्राप्त किया कि कोषागार में पीपीओ आने के बाद अगर पेंशनर उपस्थित नहीं होते हैं तो क्या प्रक्रिया अपनाई गई है। वरीय कोषागार पदाधिकारी अरविंद वर्मा द्वारा बताया गया कि पेंशनर पीपीओ प्राप्त होने के बाद पेंशनर को सूचित किया जाता है। एक साल तक उपस्थित नहीं होने की स्थिति में पीपीओ को महालेखाकार के पास वापस भेज दिया जाता है। जिला पदाधिकारी ने निर्देश दिया कि पेंशनर के उपस्थित होने के बाद कितने पेंशनर का कार्य निष्पादित किया गया तथा कितने पेंशनर का कार्य लंबित है कि जानकारी को अद्यतन रखें। साथ ही पेंशनर को सही सही जानकारी पारदर्शिता तरीके से दें, ताकि उन्हें परेशान ना होना पड़े।

डीएम द्वारा जिला कोषागार स्थित मूलभूत सुविधा यथा पेयजल, शौचालय, बैठने हेतु कुर्सी इत्यादि का निरीक्षण किया। साथ ही सूचना पट्ट का निरीक्षण करते हुए निर्देश दिया कि कोषागार से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी को सूचना पट्ट पर प्रदर्शित कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कोषागार परिसर की स्वच्छता एवं वाहनों की पार्किंग सही तरीके से कराने का निर्देश दिया। उन्होंने परिसर में डस्टबिन रखने का निर्देश दिया ताकि परिसर को स्वच्छ रखा जा सके। 

डीएम द्वारा ब्रजगृह का निरीक्षण करते हुए सीसीटीवी कैमरा की स्थिति का भी अवलोकन किया गया। साथ ही भवन प्रमंडल तथा अग्निशमन संबंधी प्रतिवेदन का भी जायजा लेते हुए आवश्यक निर्देश दिया। उन्होंने ब्रजगृह में और अधिक सीसीटीवी कैमरा लगाने का निर्देश वरीय कोषागार पदाधिकारी को दिया ताकि ब्रजगृह को और अधिक प्रभावी तरीके से सुरक्षित रखा जा सके।

ADVERTISEMENT