संघ प्रमुुख मोहन भागवत का स्वयंसेवकों से आह्वान, निधि समर्पण में न छूटे एक भी परिवार

अयोध्या में बनने वाले भव्य राममंदिर में सभी रामभक्तों की सहभागिता हो इसके लिए पूरे देश में निधि समर्पण अभियान चलाया जा रहा है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कहने पर इस अभियान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिंदू परिषद एवं सभी अनुषांगिक संगठन के कार्यकर्ता लगे हैं।  इसका नेतृत्व विहिप कर रही है।  15 जनवरी से 27 फरवरी तक चलने वाले इस अभियान में अब मात्र 14 दिन ही शेष बचे हैं।

अभियान की गति को देखते हुए सरसंघचालक डा. मोहन भागवत ने स्वयंसेवकों से आह्वान किया है कि राम मंदिर निर्माण में हर परिवार की भागीदारी होनी चाहिए। जो भी समय अब शेष रह गए हैं उसमें ऐसी योजना बनाए की कोई भी परिवार छूटे नहीं। मंदिर निर्माण में गरीब से गरीब लोगों की भागीदारी हो सके इसलिए ही 10 रुपये का कूपन रखा गया है। कहा, लोग हमलोगों का इंतजार कर रहे हैं।

सभी लोग मंदिर निर्माण में सहयोग करना चाहते हैं।  कार्यकर्ताओं को उनके पास पहुंचने की जरूरत है।  वे शनिवार को मुजफ्फरपुर में उत्तर बिहार प्रांत व उत्तर पूर्व क्षेत्र के पदाधिकारियों व प्रचारकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस अभियान में पैसे से ज्यादा समर्पण का महत्व है। इसलिए कोई परिवार छूटना नहीं चाहिए।

अभियान में झारखंड बिहार अभी है पीछे

सूत्रों के अनुसार निधि संग्रह अभियान के तहत पूरे देश में अभी तक लक्ष्य के 60 प्रतिशत परिवारों तक पहुंच पाए हैं। प्रारंभ में देश के 11 करोड़ परिवारों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा गया था। बाद में आम लोगों के उत्साह को देखते हुए 13 करोड़ परिवारों तक पहुंचने का लक्ष्य तय किया गया। झारखंड-बिहार की जहां तक बात है तो अभी तक लक्ष्य के 40 प्रतिशत परिवार तक ही निधि समर्पण अभियान में लगे कार्यकर्ता पहुंच पाए हैं। विहिप के एक पदाधिकारी के अनुसार ठंड के कारण अब तक अभियान की गति धीमी थी। अब कार्यकर्ताओं के उत्साह को देखते हुए लगता है कि 27 फरवरी तक उसे पूरा र लेंगे।  इन दोनों राज्यों में एक करोड़ 40 लाख परिवारों तक पहुंचने की योजना है।

14 फरवरी को चलेगा विशेष अभियान

ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने के लिए 14 फरवरी को  रांची सहित देश के कई शहरों व गांवों में सुबह नौ बजे से लेकर रात्रि 8 बजे तक का विशेष अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है। रविवार का दिन होने के कारण सुबह से शाम तक लगातार 11 घंटे तक अभियान में लगे सभी अधिकारी व कार्यकर्ता समय देंगे। रांची महानगर के कार्यकर्ताओं ने इस दिन 50 हजार परिवारों में पहुंचने की योजना बनाई है।

ADVERTISEMENT