Madhupur Assembly By-Election 2021: सांसद चंद्रप्रकाश ने ठोका दावा, क्या बिगड़ेगी भाजपा-आजसू की बात

हाजी हुसैन अंसारी के निधन से खाली हुई मधुपुर विधानसभा सीट पर एनडीए गठबंधन में शामिल आजसू पार्टी ने दावा कर दिया है। गिरिडीह सांसद सह केंद्रीय उपाध्यक्ष चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा कि दुमका और बेरमो में भाजपा ने चुनाव लड़ा था। मधुपुर में भाजपा समर्थन दे तो मधुपुर सीट को आजसू पार्टी आसानी से झामुमो से छीन लेगी। इस बाबत भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से वार्ता की जाएगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में आजसू पार्टी और भाजपा के अलग-अलग चुनाव लडऩे के कारण झारखंड में यूपीए को मौका मिल गया। अब वैसी राजनीतिक परिस्थिति दोबारा आने नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मधुपुर उप चुनाव को लेकर एनडीए गठबंधन कतई प्रभावित नहीं होगा।

चंद्रप्रकाश चौधरी शुक्रवार की सुबह गिरिडीह में थे। आजसू की केंद्रीय सभा में भाग लेने के लिए मधुपुर गए। मधुपुर रवाना होने के पहले गिरिडीह में भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुरेश कुमार साव के आवास पर विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में मधुपुर में आजसू उम्मीदवार गंगा नारायण सिंह को 45 हजार मत मिले थे जबकि भाजपा के राज पलिवार ने 65 हजार मत पाए थे। झामुमो के हाजी हुसैन अंसारी 88 हजार वोट लाकर चुनाव जीते थे। उप चुनाव में भाजपा और आजसू मिल कर लड़ेगी तो जीत तय है। भाजपा को यहां आजसू को समर्थन देना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे रामगढ़ से लगातार विधायक चुने जा रहे थे। वहां भी भाजपा और आजसू के अलग अलग लडऩे के कारण कांग्रेस की जीत हुई। ऐसी एक दर्जन से अधिक सीटें हैैं जो गठबंधन नहीं होने के कारण यूपीए के खाते में चली गई। उप चुनावों में ऐसी चूक नहीं होनी चाहिए।

चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा कि हेमंत राज में माओवादी एवं अपराधी का खौफ बढ़ गया है। ऐसा लगता है कि सरकार के संरक्षण में ही माओवादी उत्पात मचा रहे हैैं। इससे विकास पर असर पड़ रहा है। उन्होंने पीरटांड़ में पुलिस पिकेट खोलने के विरोध को गलत बताया। उन्होंने कहा कि पुलिस पिकेट खुलने से विकास की भी नई राह खुलेगी।

ADVERTISEMENT