Bihar CoronaVirus Vaccination: आज बिहार के 300 केंद्रों पर शुरू होगा कोरोना को हराने का महाअभियान

बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण से बचाव का आज अहम दिन है। आज बिहार के तीन सौ स्थानों सहित पूरे देश में कोरोनावायरस से बचाव के लिए पहले चरण के अभियान के तहत टीकाकरण की शुरुआत की जा रही है। बिहार में पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्‍थान में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय अभियान का उद्घाटन करेंगे। आइजीआइएमएस के सफाईकर्मी रामबाबू को राज्‍य का पहला टीका लगाया जाएगा। आइजीआइएमएस के एंबुलेंस चालक अमित को दूसरा टीका दिया जाएगा। अभियान के पहले दिन राज्‍य के 30 हजार स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया जाएगा।

राज्‍य के सभी तीन सौ केंद्रों  पर पहुंचा दिए गए हैं वैक्‍सीन

कोरोना वायरस के टीकाकरण के लिए बनाए गए राज्‍य के सभी तीन सौ केंद्रों  पर वैक्‍सीन पहुंचा दिए गए हैं। इसके लिए 38 जिलों में 678 कोल्ड चेन पॉइंट बनाए गए हैं। पटना में राज्यस्‍तरीय वैक्सीन भंडार के अलावा सारण, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, दरभंगा, सहरसा, भागलपुर, पूर्णिया, नालंदा और औरंगाबाद में नौ क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार भी बनाए गए हैं।

टीका लेने वाले की 30 मिनट तक की जाएगी निगरानी

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि सभी टीकाकरण केंद्रों पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड प्रोटोकॉल के तहत इंतजाम किए गए हैं। वहां हैंड सैनिटाइजर और मास्क आदि व्यवस्था की गई है। इन केंंद्रों पर तीन कक्ष बनाए गए हैं। पहला प्रतीक्षा कक्ष है तो दूसरा टीकाकरण कक्ष। तीसरा कक्ष निगरानी के लिए है। टीकाकरण के 30 मिनट बाद तक टीका लेने वाले की निगरानी की जाएगी।

28 दिनों बाद पड़ेगा टीका का दूरा डोज

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि टीका का पहला डोज लेने वाले को दूसरा डोज 28 दिनों बाद दिया जाएगा। दूसरा डोज भी उसी कंपनी के टीके का दिया  जाएगा, जो पहले डोज में दिया गया था।

पहले चरण के लिए 4,64,160 का रजिस्‍ट्रेशन

पहले चरण के टीकाकरण के लिए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के 'को-विन' पोर्टल पर कुल 4,64,160 स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों ने रजिस्‍ट्रेशन कराया है। इनमें सरकारी स्वास्थ्य कर्मी 3,79,962 हैं। जबकि, निजी स्वास्थ्यकर्मी 84,198 हैं। टीकाकरण के पहले चरण में रजिस्‍ट्रेशन करा चुके इन स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को ही टीका दिया जाएगा। टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए 10,600 कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है।

ADVERTISEMENT