PM मोदी बोले- रातोरात नहीं आए हैं कृषि कानून, 20-25 साल से हो रही है चर्चा


मध्य प्रदेश के किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला. नए कृषि कानून को लेकर जारी विपक्ष के विरोध पर पीएम मोदी ने निशाना साधा और उनके पुराने वादों को याद दिलाया. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि जो काम 25 साल पहले होने थे, वो आज करने पड़ रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि किसानों की उन मांगों को पूरा कर दिया गया है, जिन्हें बरसों से रोका गया था. किसानों के लिए जो नए कानून बने हैं, ये रात-ओ-रात नहीं आए हैं. पिछले दो दशक से केंद्र, राज्य सरकार और संगठन इसपर मंथन कर रहे थे. 

विपक्ष पर पीएम मोदी का वार

पीएम मोदी ने कहा कि जो अपने घोषणापत्र में इन सुधारों की वकालत करते थे, लेकिन कभी लागू नहीं किया. पीएम मोदी ने कहा कि अगर पार्टियों के पुराने घोषणापत्र, कृषि क्षेत्र संभालने वाले लोगों की चिट्ठी देखी जाए तो वहीं बातें नए कृषि सुधारों में की गई हैं. आज विरोधियों को इस बात की तकलीफ है कि मोदी ने ऐसा कैसे कर दिया. 

विपक्ष पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मुझे क्रेडिट मत दो, आपके पुराने घोषणापत्रों को क्रेडिट देता हूं. मैं किसानों को भला चाहता हूं, आप किसानों को भ्रमित करना छोड़ दें. ये कानून लागू हुए 6 महीने से अधिक वक्त हो गया, लेकिन अचानक विपक्ष ऐसे मुद्दे को उठा रहा है. किसानों के कंधे पर बंदूक रखी जा रही है. 

कर्ज माफी को लेकर पीएम ने विपक्ष पर वार किया, पीएम मोदी बोले कि हमने किसानों को डेढ़ गुना MSP दिया. कांग्रेस द्वारा की गई कर्जमाफी सबसे बड़ा धोखा है, MP में भी चुनाव के वक्त 10 दिन में कर्ज माफ करने की बात कही, लेकिन नहीं किया. राजस्थान में भी ऐसा ही हुआ. पीएम मोदी ने कहा कि कर्जमाफी की बात करते हैं, लेकिन छोटे किसानों के बारे में नहीं सोचते हैं. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कृषि कानून किसानों के हक में है और विपक्ष इन मसलों पर झूठ फैलाने की कोशिश कर रहा है. PM ने भरोसा दिलाया कि अगर अब भी किसी को आशंका है, तो हम सिर झुकाकर-हाथ जोड़कर हर मुद्दे पर बात करने के लिए तैयार हैं. देश का किसान, किसानों का हित हमारे लिए सर्वोच्च है. 


ADVERTISEMENT