Coronavirus Vaccine: कोरोना वैक्सीन देने के लिए तैयारियां शुरू, गृह सचिव ने राज्यों को दिए निर्देश, जानें- सबकुछ


देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जनवरी में टीकाकरण अभियान शुरू होने की उम्मीद है, लेकिन उससे पहले सोमवार को चार राज्यों के सात जिलों में इसका पूर्वाभ्यास किया गया। इसके तहत प्रत्येक राज्य में को-विन एप पर पहले से पंजीकृत इच्छित लाभार्थियों को एसएमएस भेजकर उन्हें टीका लगाने के समय और केंद्र के बारे में जानकारी दी गई। वहीं केंद्रीय गृह सचिव राज्य के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर कहा कि राज्य व केंद्र शासित प्रदेश अपने क्षेत्र के संबंधित अधिकारियों का पहचान, डेटाबेस, टीका वितरण, भंडारण, सुरक्षा, शिपमेंट और लाभार्थियों के टीकाकरण की तैयारी में स्वास्थ्य मंत्रालय का सहयोग करें।

इन राज्यों में कोराना टीकाकरण का हुआ पूर्वाभ्यास

आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले, गुजरात के राजकोट और गांधीनगर, पंजाब के लुधियाना और शहीद भगत सिंह नगर (नवांशहर) और असम के सोनितपुर और नलबारी जिलों में यह पूर्वाभ्यास किया गया। टीका वितरण समेत उसकी सभी प्रणालियों की जांच के लिए मंगलवार को भी अभियान जारी रहेगा। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के ने बताया कि वास्तविक टीकाकरण अभियान शुरू करने से पहले राज्यों में इसके लिए तैयार प्रणाली को परखने और उसकी किसी भी खामियों को दूर करने के लिए यह पूर्वाभ्यास किया गया। अधिकारियों के मुताबिक वैक्सीन वितरण पर नजर रखने के लिए तैयार किए गए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को-विन की कार्यक्षमता का आकलन किया गया। इसके अलावा सभी आवश्यक नियमों का पालन करते हुए टीकाकरण टीम के सदस्यों की तैनाती, कोल स्टोरेज की जांच, परिवहन व्यवस्था और अन्य तैयारियों का जायजा भी लिया गया।

गृह सचिव ने राज्यों से कहा- सावधानी व सतर्कता की जरूरत

गृह सचिव ने अपने पत्र में लिखा है कि देश में पिछले 2-3 महीने में एक्टिव मामले कम हुए हैं। इसके साथ ही स्थिति काफी आशावादी लग रही है। जो भी हो दुनिया में तेजी से बढ़ रहे नए मामले और ब्रिटेन में फैल रहे नए वायरस के प्रकार के चलते अधिक सावधानी और सतर्कता बरतने की जरूरत है। मुख्य गृह सचिव ने अपने पत्र में आगे लिखा है कि नए साल के जश्न और अभी जारी सर्दी के मौसम के चलते नए मामलों में बढ़ोतरी न हो इसे लेकर खासतौर पर निगरानी रखने की जरूरत है, यह दोनों ही परिस्थितियां वायरस के फैलने के लिए उपयोगी साबित हो सकती हैं। सचिव ने इस संबंध में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को उचित कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

सबसे पहले इन्हें दिया जाएगा वैक्सीन

पत्र में आगे लिखा गया है कि भारत सरकार ने कोविड-19 वैक्सीन दिए जाने को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। वैक्सीन को लेकर बनाए गए समूह ने शुरुआती चरण में इस वैक्सीन को हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स, 50 और उससे ज्यादा उम्र के लोग या फिर कई बीमारियों से पीड़ित 50 साल से कम उम्र के लोगों को ये वैक्सीन देने का सुझाव दिया है। पत्र में आगे कहा गया कि राज्य/केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन को संबंधित अधिकारियों को पहचान करने और इस संबंध में डेटाबेस तैयार करने, टीका वितरण, भंडारण, सुरक्षा, शिपमेंट और लाभार्थियों के टीकाकरण की तैयारी में स्वास्थ्य मंत्रालय को सक्रिय समर्थन के लिए निर्देश दें।


ADVERTISEMENT