पीएम मोदी करेंगे अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी को संबोधित, 56 साल बाद ऐसा पहला मौका


अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के शताब्दी वर्ष समारोह को आज बतौर मुख्य अतिथि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करने वाले हैं. उनका यह संबोधन ऑनलाइन होगा. पीएम मोदी के साथ ही केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक भी इस समारोह में शामिल होंगे. यह कार्यक्रम इसलिए खास है क्योंकि ऐसा 56 साल बाद होने जा रहा है जब देश का प्रधानमंत्री एएमयू के कार्यक्रम को संबोधित करेगा.

बता दें कि इससे पहले साल 1964 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री एएमयू (AMU) गए थे. लाल बहादुर शास्त्री ने एएमयू के दीक्षांत समारोह को संबोधित किया था. 

प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के मद्देनजर एएमयू प्रशासन ने अपनी पूरी तैयारियां कर ली हैं. अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय (एएमयू) के आधिकारिक बयान के अनुसार इस ऐतिहासिक अवसर को यादगार बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक विशेष डाक टिकट भी जारी किया जाएगा.

ये है कार्यक्रम की रूपरेखा

विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा जारी शेयर की गई जानकारी मुताबिक, मंगलवार सुबह 10 बजे कुरान ख्वानी के साथ इस कार्यक्रम का आगाज होगा. जिसके बाद कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर औपचारिक परिचय कराएंगे. इसके बाद सर सैयद एकेडमी के निदेशक अली मोहम्मद नकवी विश्वविद्यालय की 100 वर्षों की उपलब्धियों को सामने रखेंगे.

उनके बाद एएमयू वीमेंस कॉलेज की प्रिंसिपल प्रोफेसर नईमा खातून महिलाओं की शिक्षा में एएमयू का योगदान विषय पर बात करेंगी. इसी क्रम में विश्वविद्यालय के चांसलर सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन अपने विचार व्यक्त करेंगे. इसके बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक समारोह को संबोधित करेंगे. शिक्षा मंत्री के बाद प्रधानमंत्री मोदी एएमयू के 100 वर्ष पूरे होने के अवसर पर एक डाक टिकट जारी करेंगे और फिर कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. कार्यक्रम का समापन एएमयू तराने के साथ होगा.

वीसी ने जताया था आभार

पीएम मोदी की तरफ से यूनिवर्सिटी का निमंत्रण स्वीकार करने के बाद वीसी ने उनके प्रति अपना आभार व्यक्त किया था. उस वक्त एएमयू के कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर ने कहा था कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) समुदाय विश्वविद्यालय के समारोहों में भाग लेने के लिए उनकी स्वीकृति के लिए आभारी है.


ADVERTISEMENT