पोस्ट ऑफिस सेविंग्स बैंक खाते में 500 रुपये का मिनिमम बैलेंस रखना है जरूरी, नहीं तो भरना होगा जुर्माना


यदि आपके पास इंडिया पोस्ट का पोस्ट ऑफिस सेविंग्स बैंक (POSB) खाता है, तो आपको कम से कम 500 रुपये न्यूनतम बैलेंस बनाए रखना होगा, यह नियम 11 दिसंबर, 2020 से प्रभावी है। अगर खाते में यह राशि नहीं रखी जाती है तो 100 रुपये का जुर्माना देना होगा। डाक विभाग ने कहा कि पीओएसबी ग्राहकों को रखरखाव के शुल्क से बचने के लिए किसी भी दिन किसी भी बचत खाते में न्यूनतम 500 रुपये की शेष राशि बनाए रखने की आवश्यकता होगी। अगर खाते में शेष राशि का रखरखाव नहीं किया जाता है, तो 100 रुपये का शुल्क काटा जाएगा और यदि शेष राशि शून्य हो जाती है, तो खाता बंद कर दिया जाएगा।

इंडिया पोस्ट की ओर से प्रस्तावित बचत योजनाएं: इंडिया पोस्ट कई छोटी बचत योजनाएं देता है, जिन्हें आमतौर पर डाकघर बचत योजनाओं के रूप में जाना जाता है। इन योजनाओं में पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड (PPF), सुकन्या समृद्धि योजना (SSY), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC), 5 साल के लिए पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट, किसान विकास पत्र (KVP) और सीनियर सिटीजन सेविंग्स शामिल हैं। 

रेकरिंग जमा पर देर से भुगतान शुल्क क्या हैं?: 1 से 15 के बीच खोले गए खाते के लिए मासिक जमा को महीने के 15वें तारीख को जमा करना होगा और 16 से खोले गए खाते को महीने के अंत तक जमा करना होगा। यदि मासिक किस्त किसी विशेष महीने के लिए जमा नहीं की जाती है, तो यह डिफ़ॉल्ट बन जाता है। एक व्यक्ति द्वारा केवल एक डाकघर बचत खाता खोला जा सकता है। 

डाकघर बचत खाता खोलने के समय नामांकन अनिवार्य है। मौजूदा समय में किसी व्यक्ति या संयुक्त डाकघर बचत खाते पर दी जा रही ब्याज दर 4 फीसद है। ब्याज की गणना महीने के 10वें और महीने के अंत के बीच न्यूनतम शेष राशि के आधार पर की जाती है। पोस्ट ऑफिस की वेबसाइट के अनुसार, अगर महीने में शेष राशि 10वें और महीने के आखिरी दिन के बीच 500 रुपये से कम है, तो महीने में कोई ब्याज नहीं दिया जाता है।


ADVERTISEMENT