Bihar Election JDU Manifesto: जेडीयू ने जारी किया घोषणा पत्र, 'पूरे होते वादे, अब हैं नए इरादे' पर जोर

बीजेपी के बाद गुरुवार को एनडीए के घटक दल जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) ने अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया। घोषणा पत्र में जेडीयू ने दावा किया कि '7 निश्चय पार्ट-2 लागू किया जाएगा। साथ ही 'आर्थिक हल युवाओं को बल' 'युवा शक्ति बिहार की प्रगति' और 'आरक्षित रोजगार महिलाओं को रोजगार' देने के लिए सरकार कार्य करेगी। घोषणापत्र जारी करते समय प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण, कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी और अजय आलोक मौजूद रहे। 

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा कि हम जनता के सामने सिर्फ सात निश्चय पेश कर रहे हैं। जिसमें 'युवा शक्ति बिहार की तरक्‍की' पर खास फोकस रहेगा। वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि महागठबंधन 10 लाख को नौकरी देने का वादा कर रही है, लेकिन इसकी सच्चाई कुछ और है। इसमें कई वैकेंसी पर नियुक्ति की प्रक्रिया अभी चल रही है। उन्होंने कहा कि अगर 10 लाख नौकरी देने की बात है तो वेतनमद में 58 हजार करोड़ रुपया कहां से आएगा? वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि आशा कार्यकर्ताओं सेविकाओं के वेतन को दोगुना करने में इसबार 48 सौ करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। जेडीयू नेता ने कहा कि महागठबंधन सिर्फ धोखा देकर लोगों को बरगलाने का काम कर रहा है। घोषणा पत्र में जेडीयू ने दावा किया कि 'हर घर बिजली हर खेत के लिए सिंचाई' 'हर घर नल का स्वच्छ गांव, समृद्ध गांव' 'घर तक पक्की गली नालियां, विकसित शहर' 'शौचालय निर्माण घर का सम्मान, सुलभ संपर्कता' 'अवसर बढ़े आगे पढ़े, सबके लिए स्वास्थ्य सुविधा' होगी। 


ADVERTISEMENT