तारकेश्वर मंदिर के बाद अब 'भूतनाथ' पर दिखेगा कोरोना इफेक्ट, पहली बार सावन में निराश होंगे भक्त


ऐसा संभवतः पहली बार होगा कि सावन के महीने में शिव मंदिर बंद रहेगा। 10 लोगों के कोरोना संक्रमित पाये जाने के कारण तारकेश्वर मंदिर पहले ही बंद कर दिया गया है। अब भूतनाथ मंदिर को भी पूरे सावन महीने में बंद रखा जाएगा। यह निर्णय मंदिर कमेटी की ओर से लिया गया है। इस संबंध में मंदिर प्रबंधन की पुलिस अधिकारियों के साथ गत शुक्रवार को बैठक भी हुई थी। हालांकि बैठक में पुलिस की ओर से कहा गया था कि यह मंदिर प्रबंधन का निर्णय है कि सावन में मंदिर खुला रखेंगे या नहीं।

सुरक्षा कारणों से लिया गया निर्णय

पुलिस की ओर से हर संभव मदद की जाएगी। इस बारे में मंदिर प्रबंधन हिंदू सत्कार समिति के प्रशासनिक अधिकारी महेश ठाकुर ने बताया कि भक्तों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मंदिर को पूरे सावन में बंद रखने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि काफी दिनों पहले ही राज्य सरकार ने मंदिरों को खोलने की घोषणा कर दी थी मगर हमारा मंदिर अभी तक बंद ही था। अब सावन में भी मंदिर बंद ही रहेगा क्योंकि यहां लाखों लोगों की भीड़ सावन के सोमवार पर उमड़ती है। ऐसे में अगर कोई संक्रमित व्यक्ति आ गया तो फिर मामला काफी बिगड़ सकता है।

देश में कोरोना के 4 लाख से ज्यादा केस

बता दें कि देश में अभी तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 4 लाख के ऊपर पहुंच चुकी है। वहीं करीब 15 हजार लोग इस वायरस के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं। इसके अलावा भारत सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की लिस्ट में चौथे स्थान पर पहुंच चुका है।

पूरे सावन में मंदिर में होगी विधिवत पूजा-अर्चना

ठाकुर ने बताया कि पूरे सावन में मंदिर के अंदर विधिवत पूजा-अर्चना जारी रहेगी। इसके अलावा जिस तरह रा​त्रि भोग कराया जाता था, वह भी चालू रहेगा। महेश ठाकुर ने बताया कि हर वर्ष सोमवार के दिन करीब 3 लाख श्रद्धालुओं की भीड़ भूतनाथ मंदिर में उमड़ती है। पहले और अंतिम सोमवार को सबसे अधिक भीड़ होती है। इसके अलावा प्रत्येक दिन हजारों की संख्या में यहां लोग आते हैं।

ADVERTISEMENT