चीनी कंपनियों के खिलाफ लहर, खत्म हो रही Huawei के साथ डील: माइक पोम्पियो


फ्रांस में ऑरेंज, भारत में जियो और ऑस्ट्रेलिया में टेलस्त्रा ने चीनी फर्मों के साथ काम करने से मना कर दिया. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने दावा किया है कि दुनियाभर के दिग्गज दूरसंचार ऑपरेटरों के साथ चीनी टेक कंपनी Huawei सौदे लुप्त हो रहे हैं.

दुनिया के प्रमुख टेलिकॉम ऑपरेटर्स जिनमें स्पेन के टेलीफोनिका, साथ ही ऑरेंज, ओ 2, जियो, बेल कनाडा, टेलस, और रोजर्स और भी कंपनियां हैं जो साफ-सुथरे व्यापार की ओर आगे बढ़ रहे हैं. लोग चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के बुनियादी ढांचे से अलग हो रहे हैं. यह बातें माइक पोम्पियो ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही हैं.

सीसीपी सर्विलांस स्टेट के साथ व्यापार करने के लिए लोग पीछे हट रहे हैं. चीन की दिग्गज कंपनियां जिनमें Huawei भी शामिल हैं, जिनके साथ व्यापार करने से लोग मना कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि चीनी टेक कंपनियों के खिलाफ लहर है.

दुनिया भर के दूरसंचार ऑपरेटरों के साथ Huawei के सौदे खत्म हो रहे हैं क्योंकि देश केवल 5G नेटवर्क में विश्वसनीय विक्रेताओं को अनुमति दे रहे हैं.

चेक गणराज्य, पोलैंड, स्वीडन, एस्टोनिया, रोमानिया, डेनमार्क और लातविया जैसे देशों ने यह अपनाया है. हाल ही में, ग्रीस ने अपने 5 जी बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए Huawei के बजाय एरिक्सन का उपयोग करने के लिए सहमति जताई गई है.

ADVERTISEMENT