Bihar CoronaVirus News:बिहार में कोरोना से 43वीं मौत, पॉजिटिव 7000 के करीब, ठीक हुए 4776


बिहार में कोरोना के 43 वें मरीज की कल पटना के एनएमसीएच अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। एनएमसीएच के अधीक्षक डॉ. निर्मल कुमार सिन्हा ने बताया कि 51 वर्षीय सत्तान कामती दरभंगा स्थित बहेरा तरौनी गांव के निवासी थे। इनका फेफड़ा संक्रमित होने के साथ अन्य बीमारियां भी थीं। 16 जून को वे दरभंगा से यहां लाए गए थे। स्वजनों को शव सुरक्षित तरीके से प्लास्टिक में पैक कर दे दिया गया है। 

अधीक्षक ने बताया कि एनएमसीएच में अब तक 327 संक्रमित भर्ती हुए। 269 ठीक होकर घर जा चुके हैं। नौ की इलाज के दौरान मौत हुई है। 49 संक्रमितों का अब भी इलाज जारी है। वहीं बता दें कि NMCH अस्पताल में कोरोना से अबतक नौ लोगों की मौत हो चुकी है। 

संक्रमितों के ठीक होने की रफ्तार तेज

खास बात यह भी है कि राज्य में कोरोना मरीजों के ठीक होने की रफ्तार राष्ट्रीय औसत से 14.91 फीसद अधिक है। राज्य में अब कुल संक्रमितों की संख्या 6940 संक्रमित मिले हैं और 4776 लोग ठीक हुए हैं। अब एक्टिव केस 2124 रह गए हैं। बीते 24 घंटे की बात करें तो 130 नए मरीज मिले। जबकि, 205 स्‍वस्‍थ हुए। 

स्‍वस्‍थ होने वालों का आंकड़ा राष्‍ट्रीय औसत से अधिक

राज्य में भले ही रोज कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही हो, लेकिन सुखद बात यह है कि ठीक होने वालों की संख्या भी उसी अनुपात में तेजी से बढ़ रही है। बिहार में संक्रमितों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत से करीब 14.91 फीसद अधिक है। कोरोना से ठीक होने की राष्ट्रीय औसत 52.94 है। जबकि, बिहार में यह दर करीब 67.85 फीसद है।

बुधवार को मिले 130 नए मरीज, 205 हुए ठीक 

प्रदेश में बुधवार को 3619 सैंपल की जांच में कोरोना के 130 नए मरीज मिले हैं। जबकि पिछले 24 घंटे में और 205 लोग ठीक हुए हैं। राज्य में आज तक कुल 6940 संक्रमित मिले हैं और 4776 लोग ठीक हुए हैं। अब एक्टिव केस 2124 रह गए हैं। 

बिहार में सबसे पहले मुंगेर जिले के एक युवक की मौत हुई थी जो विदेश से आया था और उसे कई तरह की बीमारियां थीं।बता दें कि अबतक जितने मरीजों की मौत हुई है वो किसी ना किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थे।  


ADVERTISEMENT