पुलवामा में सेना का प्रहार, ढेर किये दो आतंकी और एक मददगार


जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाकर्मियों को बड़ी सफलता मिली है. उन्होंने एनकाउंटर में तीन आतंकियों को ढेर कर दिया है. मरने वाले तीन आतंकियों में से एक प्रमुख आतंकी का सहयोगी बताया जा रहा है. जबकि दो अन्य आतंकियों की अभी पहचान नहीं हो पाई है.

इससे पहले पुलिस सूत्रों को जानकारी मिली थी कि अवंतीपोरा के गोरीपोरा इलाके में दो से तीन आतंकी छिपे हैं. इस जानकारी के आधार पर उन्होंने इलाके की घेराबंदी की. सुरक्षाकर्मियों ने इलाके को चारो तरफ से घेर कर एनकाउंटर शुरू किया. दोनों तरफ से गोलीबारी होती रही और आखिरकार तीन आतंकियों को मार गिराया गया.

कोरोना संकट के बीच जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियां कम होती नहीं दिख रही हैं और घाटी में लगातार एनकाउंटर की खबरें आ रही हैं. इससे पहले दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच एनकाउंटर में 2 आतंकी भी मारे गए. साथ ही सुरक्षा बलों ने अपहृत किए गए आरपीएफ कॉन्स्टेबल को सुरक्षित छुड़ा भी लिया.

संदिग्ध आतंकियों की ओर से फायरिंग की शुरुआत की गई थी. दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के खरपोरा अरवानी क्षेत्र में सुरक्षाबलों की संयुक्त बलों ने आतंकियों के फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दिया.

संदिग्ध आतंकियों ने आरपीएफ कॉन्स्टेबल सरताज अहमद इट्टो पुत्र गुलाम अहमद इट्टो निवासी शिरपोरा को शुक्रवार शाम उस समय अगवा कर लिया था, जब वह नमाज पढ़ने जा रहे थे. सरताज आरपीएफ में कॉन्स्टेबल के रूप में कार्यरत हैं.अपहरण के बाद 3 संदिग्ध लोग एक सैंट्रो कार से भागने की कोशिश करने लगे, जिनका बाद में पीछा किया गया और इस दौरान एनकाउंटर में 2 आतंकी मारे गए.

शोपियां में भी अपहरण

इससे पहले आतंकियों ने शोपियां जिले में गुरुवार देर शाम एक पुलिसकर्मी को उनके आवास के बाहर से अगवा कर लिया था. जावेद अहमद नाम के पुलिसकर्मी को शाम आतंकवादियों द्वारा शोपियां जिले के चतवतन क्षेत्र स्थित उनके आवास के बाहर से अपहरण कर लिया गया.

शोपियां जिले में और उसके आसपास सुरक्षा बलों ने जावेद अहमद का पता लगाने के लिए बड़े पैमाने पर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया जिसे बाद में सुरक्षित बचा लिया गया.