बगदाद: US दूतावास पर फिर बरसे रॉकेट, टेंशन के बीच अमेरिका ने भारत से की बात


ईरान और अमेरिका के बीच टकराहट की हर गुंजाइश को खत्म करने की दुनिया कोशिश कर रही. यूरोपियन यूनियन, भारत समेत कई अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने दोनों देशों से संयम बरतने की अपील की है, लेकिन तनाव कम होता नहीं दिख रहा है. ताजा घटनाक्रम में बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास के पास एक फिर से दो रॉकेट दागे गए हैं. इस हमले में अबतक किसी नुकसान की खबर नहीं है.

इस बीच अमेरिका भी दुनिया भर में अपनी ओर से मोर्चेबंदी में जुटा है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात की ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी से जुड़े फैसले के बारे में भारत को अवगत कराया. इसके अलावा दोनों देशों के बीच पश्चिम एशिया में पैदा हुए तनाव पर भी चर्चा हुई.

अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट अटैक

बगदाद स्थित ग्रीन जोन में लगातार दूसरे दिन धमाका हुआ. यहां पर अमेरिकी दूतावास के नजदीक दो रॉकेट आकर गिरे. इस हमले में अबतक किसी के घायल होने की खबर नहीं है. शनिवार रात को भी अमेरिकी दूतावास के पास रॉकेट से हमला किया गया था. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक ग्रीन जोन के बाहर एक तीसरा रॉकेट भी आकर गिरा, जिसका शिकार एक परिवार हुआ, इस घटना में 4 लोग घायल हो गए. ग्रीन जोन के आस-पास जमीनी और हवाई सुरक्षा उच्चतम स्तर पर है.

दो रणनीतिक साझेदार के बीच तनाव से भारत चिंतित

ईरान और अमेरिका के बीच पैदा हुए तनाव ने भारत की चिंता बढ़ा दी है. दोनों ही देश भारत के अहम रणनीतिक और व्यापारिक साझेदार हैं. भारत ने दोनों देशों से तनाव दूर करने की अपील की है. हालांकि माइक पोम्पियो के ट्वीट की भाषा ईरान को लेकर आक्रामक और भड़काऊ दिखती है. विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात के बाद उन्होंने ट्वीट किया, "डॉ एस जयशंकर और मैंने अभी-अभी बात की है, हमने ईरान द्वारा लगातार दी जा रही धमकियों और उसके उकसावे वाली कार्रवाई पर चर्चा की है. ट्रंप प्रशासन अमेरिकी लोगों, हमारे दोस्तों और सहयोगियों की रक्षा के लिए जरा भी नहीं हिचकेगा."

वहीं माइक पोम्पियो से बात करने के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत ने अमेरिका के सामने अपने हितों और चिंताओं को रखा है. उन्होंने ट्वीट किया, "अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो से खाड़ी क्षेत्र में पैदा हुए हालात के बारे में चर्चा की. हमनें भारत की चिंताओं और भारत के हित के बारे में उन्हें बताया."

पश्चिम एशिया के हालात पर भारत की निगाह

बता दें कि पश्चिम एशिया के हालात की भारत लगातार समीक्षा कर रहा है. एक सूत्र ने इंडिया टुडे को बताया कि भारत सभी संबंधित पक्षकारों के साथ मौजूदा हालात पर बात कर रहा है, क्योंकि इस क्षेत्र की सुरक्षा और स्थिरता में भारत की गहरी रूचि है."

बता दें कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ से मौजूदा हालात को लेकर फोन पर बातचीत की है. दोनों देशों से एक दूसरे को हालात से अवगत कराया. विदेश मंत्री ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि उन्होंने ईरान को बताया कि भारत तनाव के स्तर को लेकर बेहद चिंतित है. दोनों देश लगातार एक-दूसरे के संपर्क में बने रहने को लेकर भी सहमत हुए.