About Me

header ads

रामनवमी पर अयोध्या में हो सकता भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का श्रीगणेश


अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि पर भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर निर्माण का रास्ता सुप्रीम कोर्ट ने पूरी तरह से साफ कर रखा है. 9 नवंबर को अपने फैसले के खिलाफ सभी पुनर्विचार याचिकाओं को भी सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है. इसके बाद मंदिर निर्माण को लेकर कोई किंतु-परंतु नहीं रह गया है. किंतु-परंतु है तो सिर्फ यह कि वह तारीख काैन होगा, जिस दिन अयोध्या में मंदिर निर्माण केे लिए भूमिपूजन होगा या मंदिर निर्माण का शुभारंभ. 

वैसे-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मन में तारीखों को लेकर जरूर कुछ चल रहा है. प्रधानमंत्री ने तो नहीं लेकिन गृहमंत्री और यूपी के मुख्यमंत्री ने झारखंड विधानसभा चुनाव प्रचार के दाैरान जो कुछ भी संकेत दिए हैं उससे लगता है कि 2 अप्रैल 2020 को अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का श्रीगणेश हो सकता है। 2 अप्रैल को श्रीरामनवमी है.

सुप्रीम कोर्ट के 9 नवंबर 2019 के फैसले के अनुसार मंदिर निर्माण के लिए तीन महीने के अंदर ट्रस्ट का निर्माण किया जाना है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और देश के गृहमंत्री अमित शाह शनिवार को झारखंड में चुनावी दाैरे पर थे. उन्होंने गिरिडीह, देवघर और बाघमारा में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर का निर्माण चार माह के भीतर शुरू हो जाएगा.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लगातार झारखंड में भाजपा की चुनावी सभाओं को संबोधित कर रहे हैं. वे हर सभा में यह बताना नहीं भूलते हैं कि नरेंद्र मोदी की सरकार के  प्रयास से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तमाम बाधाएं दूर हुईं हैं. शीघ्र ही मंदिर निर्माण शुरू होगा. योगी तो एक कदम आगे बढ़कर चुनावी सभाओं में कहते हैं कि वे जल्द ही मंदिर निर्माण का आमंत्रण लेकर झारखंड आएंगे. साथ ही हर घर से 11 रुपये और एक शिला का सहयोग भी मांगते हैं.