Bengal: राज्यपाल ने ममता पर साधा निशाना, कहा- इस राज्य का अंपायर हूं गेंदबाज नहीं


बंगाल सरकार व राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है. गुरुवार को राज्यपाल ने एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व उनके मंत्रियों पर जमकर निशाना साधा. हालिया तनातनी पर टिप्पणी करते हुए राज्यपाल ने कहा कि क्रिकेट टीम की तरह एक-एक करके जिस तरह राज्य सरकार मेरे खिलाफ बोलने के लिए बल्लेबाज उतार रही है, ऐसे में मैं कह देना चाहता हूं कि मैं गेंदबाज नहीं बल्कि इस राज्य का अंपायर हूं. उनका इशारा राज्य के मंत्रियों की ओर था जो आए दिन उनके खिलाफ टिप्पणी करते हैं.

राज्यपाल ने मंत्रियों को नसीहत देते हुए कहा कि वे अपनी बॉस (ममता बनर्जी) को खुश करने के लिए उनके बयानों पर प्रतिक्रिया देने की बजाय अपने विभागों के काम पर ध्यान दें. स्पष्ट कहा कि उनके बयानों पर या तो मुख्यमंत्री खुद प्रतिक्रिया दें या फिर इस काम के लिए एक विभाग बनाकर विशेष मंत्री की नियुक्ति कर दें जिससे अन्य मंत्री अपने विभागीय कार्यो को ठीक से कर सकें। राज्यपाल ने कहा, मैं मुख्यमंत्री के साथ किसी भी मुद्दे पर बात करने को तैयार हूं, वो आएं तो सही. बात करें कोई दिक्कत नहीं है लेकिन, जिस तरीके से राज्य के अन्य मंत्री टिप्पणी करते हैं वह सही नहीं है.


राज्यपाल गुरुवार को पत्नी सुदेश धनखड़ संग सुबह की सैर पर महानगर के रवींद्र सरोवर पहुंचे थे जहां पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने स्वास्थ्य राज्यमंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य पर निशाना साधा। कहा, 'मैंने सुना है कि बहन चंद्रिमा मेरी टिप्पणियों पर प्रतिक्रिया कर रही हैं. मैं उनसे आग्रह करुंगा कि वह अपने विभाग पर ध्यान दें क्योंकि हम सब लोग उनके विभाग की असल हालत से अवगत हैं। उनके विभाग में ही गंभीर समस्याएं हैं.'

बता दें कि राज्यपाल का यह बयान तब सामने आया है जब एक दिन पहले ही मुर्शिदाबाद जाने के दौरान उन्हें तृणमूल कार्यकर्ताओं ने काले झंडे दिखाए थे.

राज्यपाल ने याद दिलाया कि उन्होंने मुर्शिदाबाद जाने के लिए राज्य सरकार से हेलीकॉप्टर मांगा था लेकिन इस पर कोई जवाब नहीं मिला. उन्होंने कहा, असल में राज्य सरकार मेरी आवाजाही को नियंत्रित करना चाहती है लेकिन, मैं यह स्पष्ट कर दूं कि जो कुछ भी मैं कह रहा हूं यह मेरी संवैधानिक सीमाओं के दायरे में है. दूसरे लोग मुझे आदेश नहीं दे सकते हैं। राज्यपाल ने राज्य शहरी विकास मंत्री व कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम पर भी निशाना साधा. कहा, फिरहाद भाई आप तो स्वच्छता अभियान का पालन करते हैं. आज राजभवन से रवींद्र सरोवर आने के दौरान शहर की जो हालत देखी आपने क्या वो देखा है? क्या हालत है, एक दिन खुद सुबह निकल कर देखिए.

परामर्श को मुख्यमंत्री हैं, आप न करें चिंता : चंद्रिमा

राज्यपाल के बयान पर पलटवार करते हुए मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने कहा कि उन्हें अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देने की जरूरत है न कि मेरे विभागीय काम पर परामर्श देने की. अधिक फिक्र से तबीयत खराब हो सकती है. मुझे परामर्श देने को मुख्यमंत्री हैं, वे चिंता न करें. वहीं उन्होंने कहा कि वे राज्य के सांविधानिक प्रधान हैं. इस हैसियत से उन्हें शांतिप्रिय तरीके से अपना काम करना चाहिए न कि राज्य सरकार के कामों में दखलंदाजी करनी चाहिए. राज्यपाल द्वारा मेयर फिरहाद हकीम पर हमले पर उन्होंने कहा कि वे कुछ भी बोल सकते हैं क्योंकि उन्हें इसकी लत है. लेकिन मुझे नहीं लगता है कि मेयर को राज्यपाल के परामर्श या ज्ञान की जरूरत है.