About Me

header ads

दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने का सपना देख रहे गौतम गंभीर, सवाल का ऐसे दिया जवाब


पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर भले ही बहुत व्यस्त चल रहे हैं, लेकिन अगर उनको दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी दी जाए, तो वो इससे पीछे नहीं हटेंगे. वो दिल्ली की अगुवाई करने के लिए एक और बड़ी जिम्मेदारी लेने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.  

समाचार एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक क्रिकेटर से नेता बने गौतम गंभीर से जब सवाल किया गया कि क्या वो उत्तर प्रदेश जैसी व्यवस्था पर सहमति जताएंगे, जहां तत्कालीन सांसद योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनने के लिए कहा गया था? इस पर बीजेपी सांसद गंभीर ने कहा, 'एक बड़ी जिम्मेदारी सम्मान की बात होगी. यह एक मुकम्मल सपना होगा.'

फिलहाल गौतम गंभीर अपने संसदीय क्षेत्र की समस्याओं को हल करने और चुनौतियों से निपटने में बिजी हैं. उन्होंने पूर्वी दिल्ली में कूड़े के पहाड़ की ऊंचाई को धीरे-धीरे कम करने का वादा किया है. इसी मकसद से उन्होंने गुरुवार को एक 'बैलिस्टिक सेग्रीगेटर' का उद्घाटन किया. हालांकि गंभीर ने इसकी डेडलाइन बताने से इनकार कर दिया कि कब तक कूड़े के पहाड़ खत्म कर दिए जाएंगे. उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि वो इस दिशा में काम कर रहे हैं.

बीजेपी सांसद गंभीर ने अपने संसदीय क्षेत्र पूर्वी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरा लगवाया है और अब वो अपने क्षेत्र में एंबुलेंस तैनात करने की कोशिश में लगे हुए हैं. बीजेपी सांसद गंभीर ने दिल्ली का आम आदमी पार्टी सरकार पर वादे पूरे नहीं करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि आम आदमी सरकार ने पूरी दिल्ली में वाईफाई लगाने और बसों में महिला यात्रियों के लिए मार्शलों की नियुक्ति करने का वादा किया था, लेकिन उसने अभी तक पूरा नहीं किया है. उन्होंने कहा कि किसी को ऐसा वादा नहीं करना चाहिए, जिसको पूरा न किया जा सकता हो.

एनआरसी पर क्या है गौतम गंभीर की राय?

वहीं, गौतम गंभीर दिल्ली में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) को जल्द लागू करने की दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी की मांग से अलग राय रखते हैं. बीजेपी सांसद गौतम गंभीर का कहना है कि इसमें कोई जल्दबाजी नहीं है. हालांकि जब भी दिल्ली में एनआरसी लागू किया जाए, तो बीजेपी सरकार द्वारा ही लागू किया जाना चाहिए और फुलप्रूफ होनी चाहिए. आपको बता दें कि राजनीति में कदम रखने और बीजेपी में शामिल होने से पहले गंभीर ने राष्ट्रवादी नजरिए से ताबड़तोड़ ट्वीट किए थे.

आतिशी के आरोप पर क्या बोले  गंभीर?

लोकसभा चुनाव के दौरान आतिशी के खिलाफ अपमानजनक पंफलेट बांटने के आरोप पर गौतम गंभीर ने कहा कि चुनाव जीतने के लिए किसी पर ऐसे आरोप लगाना पूरी तरह गलत है. इस तरह की निचले स्तर की राजनीति अच्छे लोगों को इसमें प्रवेश करने से रोकती है. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के दौरान गौतम गंभीर पर आम आदमी पार्टी की प्रत्याशी आतिशी के खिलाफ अपमानजनक पंप्लेट बांटने के आरोप लगे थे. हालांकि गंभीर ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया था.