About Me

header ads

बच्चों को मिले बीमे का 50 लाख, इसलिए शख्स ने करवा दी अपनी हत्या.


राजस्थान के भीलवाड़ा में एक फाइनेंसर ने खुद की हत्या करवा ली. बताया जा रहा है कि फाइनेंसर आर्थिक तंगी से परेशान था. उसने अपनी हत्या से पहले पूरी योजना बनाई और दो आरोपियों को 80 हजार की सुपारी दी.

पुलिस ने खारोल के मोबाइल की कॉल डिटेल और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस की पुछताछ में आरोपियों ने जो बात बताइ उसे सुनकर पुलिस भी हैरान रह गई। उन्होंने बताय कि फाइनेंसर ने यह कदम इसलिए उठाया ताकि बीमा के 50 लाख रुपए परिवार को मिल जाए.

पुलिस के अनुसार, 38 वर्षीय बलबीर खारोल ने लोगों को करीब 20 लाख रुपये उधार दिए थे. पिछले छह महीनों से वह ब्याज और मूल रकम नहीं मिलने से परेशान था. खारोल ने पिछले महीने ही एक निजी बैंक से खुद का 50 लाख रुपए का बीमा करवाया था और पहली किस्त भी दे चुका था.

भीलवाड़ा के पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर ने बताया कि शुरू में बलबीर दुर्घटना के जरिये खुदकुशी का विचार कर रहा था, लेकिन उसे डर था कि दुर्घटना में उसकी मौत होगी या नहीं, जिसके बाद उसने स्वयं की हत्या करवाने की साजिश रची। अपनी हत्या करवाने के लिए उसने राजवीर सिंह और सुनील यादव को 80 हजार रुपए की सुपारी दी. आरोपियों ने दो सितम्बर की रात गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी.

योजना के मुताबिक बलबीर ने खुद की हत्या के लिये दो सितम्बर को राजवीर सिंह और सुनील यादव को 10 हजार रुपये दिए और बाकी रकम हत्या वाले दिन अपनी जेब में रख ली. बलबीर दोनों आरोपियों के साथ एक सुनसान इलाके में गया और अपने हाथ और पैर एक रस्सी से बांध लिया। जिसके बाद राजवीर ने उसका गला घोट दिया.