बिहार के प्राइवेट अस्‍पतालों में कोरोना का टीका अब फ्री नहीं, सरकार ने रोकी सप्‍लाई; दूसरी डोज के लिए करें ये काम

Bihar Corona Vaccine Update News: कोरोना महामारी से सुरक्षा का एकमात्र विकल्प वैक्सीन ही है। और खुशखबरी ये है कि रविवार से 18 से 44 वर्ष के लोगों का भी टीकाकरण शुरू हो गया। हालांकि, पहले दिन रविवार को शहरी क्षेत्र के कुछ केंद्रों पर ही यह सुविधा मिलेगी। वहीं पूरी रूपरेखा तैयार कर सोमवार से जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में इसे  शुरू कराया जाएगा। यह जानकारी रविवार को 3 लाख 50 हजार कोवि शील्ड वैक्सीन की डोज मिलने के बाद जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक ने दी।

पटना जिले केा मिली 38 हजार डोज, 12 हजार लोग करा चुके रजिस्‍ट्रेशन

उन्होंने बताया कि जो वैक्सीन आई है उसमें से जिले को अभी 38 हजार डोज मिलीं हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 18 से 44 हजार उम्र के लोग तेजी से ऑनलाइन पंजीयन करा रहे हैं। शाम तक करीब 12 हजार लोग पंजीयन करा चुके थे। 

टीकाकरण के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जरूरी

सरकार ने 18 से 44 वर्ष के लोगों के कोरोना टीकाकरण के लिए कोविन-2 पोर्टल पर कुछ बदलाव किए हैं। अब अस्पताल में जाकर ऑन द स्पॉट पंजीयन करा टीका लेने की सुविधा फिलहाल बंद कर दी गई है। रविवार से शुरू हो रहे 18 से 44 वर्ष के लोगों को कोरोना वैक्सीन लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। लोग सेल्फ रजिस्ट्रेशन डॉट कोविन डॉट जीओवी डॉट इन या आरोग्य सेतु एप के माध्यम से पंजीयन कर स्लॉट बुक करा सकते है।

केवल स्‍लॉट बुक करने वालों को ही टीका

इस आयु वर्ग के उन्हीं लोगों को निर्धारित केंद्र व समय पर वैक्सीन दी जाएगी जिन्होंने ऑनलाइन पंजीयन करा स्लॉट बुक कराया होगा। पंजीयन प्रक्रिया में एक नया फीचर भी जोड़ा गया है। इसके  तहत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पूरा करने पर आपके मोबाइल नंबर पर चार अंक का एक कोड आएगा। अस्पताल में उसे बताने पर ही वैक्सीन दी जाएगी। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि टीका लेने वाले हर व्यक्ति की सही पहचान सुनिश्चित की जा सके।

44 निजी अस्पतालों में टीकाकरण हुआ बंद

राजधानी के 44 निजी अस्पतालों में अब कोरोना टीकाकरण नहीं होगा। सरकार ने उन्हें वैक्सीन की आपूर्ति बंद कर दी है। ऐसा भारत सरकार के उस निर्देश के बाद किया गया है, जिसमें निजी  अस्पतालों को खुद वैक्सीन खरीदनी  होगी और उसका शुल्क लेकर टीकाकरण करना  होगा।

निजी अस्‍पतालों में अब नहीं लगेगा फ्री का टीका

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक ने बताया कि जिन लोगों ने 44 निजी अस्पतालों में वैक्सीन की  पहली  डोज ली है, वे उसका  प्रमाणपत्र देकर सरकारी अस्पताल में मुफ्त दूसरी डोज  ले  सकते  हैं। यदि वे निजी  अस्पताल में ही दूसरी डोज लेना चाहते हैं तो वहां उन्हें निर्धारित  शुल्क  देना होगा। उन्होंने बताया कि निजी अस्पतालों को कोरोना वैक्सीन खरीदने के  लिए सीधे कंपनियों व उनकी  एजेंसियों  से संपर्क  करना होगा।