कोयला तस्करीः अभिषेक बनर्जी के घर पहुंची सीबीआई, पत्नी को थमाया समन


 कोलकाताःपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजीरा बनर्जी को कोयला तस्करी के आरोपों से जुड़े एक मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रविवार को जांच में शामिल होने के लिए कहा। सूत्रों ने बताया कि सीबीआई की तीन सदस्यीय टीम कोलकाता में बनर्जी के घर पहुंची और उन्हें समन दिया। समन में लिखा है कि उन्हें 24 घंटे के अंदर सीबीआई दफ्तर आना होगा।

कोयला घोटाला के केस में जांच एजेंसी पहले से ही अभिषेक बनर्जी के कई करीबियों के खिलाफ छापेमारी कर रही है। 31 दिसंबर 2020 को कोलकाता में तृणमूल यूथ कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी विनय मिश्रा के खिलाफ पशु तस्करी मामले में तलाशी अभियान चलाया गया था। मिश्रा के खिलाफ एजेंसी ने लुक आउट सर्कुलर (एलओसी) जारी किया था। बता दें कि अभिषेक बनर्जी को लेकर पश्चिम बंगाल में इन दिनों राजनीति तेज है। गृह मंत्री अमित शाह ने कई रैलियों में अभिषेक बनर्जी का नाम लेते हुए सीधा हमला बोला है। वहीं ममता बनर्जी के भतीजे ने अमित शाह के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया है।

कोयला तस्करी मामले में यह आरोप लगाया गया है कि आरोपियों ने अवैध रूप से खनन किए गए कोयले, जिसकी कीमत कई हजार करोड़ रुपये है, को पश्चिम बंगाल के पश्चिमी हिस्सों से चलाए गए एक रैकेट द्वारा कई वर्षों तक ब्लैक मार्केट में बेचा है। इस मामले में, दिसंबर के शुरुआती हफ्तों में सीबीआई ने कोलकाता के सीए गणेश बगारिया के दफ्तर में भी छापा मारा था। इस मामले में बीजेपी तृणमूल कांग्रेस को घेरती रही है। बीजेपी का आरोप है कि इसका मुख्य फायदा अभिषेक बनर्जी को हुआ है। 

विनय मिश्रा के यहां सीबीआई की छापेमारी के बाद टीएमसी के पूर्व नेता शुभेंदु अधिकारी ने अभिषेक बनर्जी पर हमला बोला था। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि यह भतीजे की सक्षम लीडरशिप में टीम मेंबर्स की सच्ची तस्वीर है। उन्होंने टीमएसी को अलग स्तर पर ले जाने के लिए क्या शानदार टीम बनाई है। ट्वीट में उन्होंने अभिषेक बनर्जी का जिक्र भतीजे के रूप में किया था।  वहीं, इस मामले में मुख्य संदिग्ध अनूप माझी उर्फ लाला फरार है और जांच एजेंसी द्वारा पहले ही एक लुकआउट नोटिस जारी किया जा चुका है।