यूपी के कानपुर में बनेंगे जवानों के लिए नाइट विजन उपकरण, फ्रांस की कंपनी से करार


 उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में देश की आर्म्ड फोर्सेज के लिए नाइट विजन उपकरणों की मैन्युफैक्च​रिंग की जाएगी. इसके लिए कानपुर की एमकेयू और फ्रांस के थेल्स ग्रुप के बीच करार हुआ है. प्रदश के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (एमएसएमई) मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने यह जानकारी दी है. 

उत्तर प्रदेश के MSME मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि फ्रांस की बहुराष्ट्रीय कंपनी थेल्स ग्रुप, कानपुर की एमकेयू के साथ मिलकर सशस्त्र बलों के लिए राज्य में ही 'नाइट विजन’ उपकरणों की मैन्युफैक्चरिंग करेगी.

सीमा पर गश्त में मदद 

नाइट विजन उपकरण जवानों को रात के दौरान सीमा पर गश्त करते समय देखने में मदद करते हैं. आधिकारिक बयान के मुताबिक यह परियोजना राज्य में विकसित किए जा रहे उत्तर प्रदेश रक्षा औद्योगिक गलियारे का हिस्सा होगी.

और निवेश की अपील 

सिद्धार्थनाथ सिंह के पास निर्यात संवर्द्धन और निवेश संवर्द्धन विभाग का भी प्रभार है. एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक सोमवार को उन्होंने नोएडा में थेल्स समूह की भारतीय यूनिट के कॉरपोरेट कार्यालय का उद्घाटन किया. उन्होंने समूह से उत्तर प्रदेश में लड़ाकू विमान के कलपुर्जे बनाने में भी निवेश करने का आग्रह किया और राज्य सरकार की ओर से हर मदद का आश्वासन दिया. 

गौरतलब है कि यूपी सरकार हाल के वर्षों में विदेशी निवेश को लेकर काफी सक्रिय दिखी है. उत्तर प्रदेश में पिछले दो साल में इनवेस्टर्स समिट के दौरान और अन्य तरह के 4.28 लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव प्राप्त हुए और अब करीब 43 फीसदी परियोजनाएं अमल में हैं. यही नहीं, कोरोना संकट के दौरान भी यूपी में 45,000 करोड़ रुपये का नया निवेश प्रस्ताव आया है.

यूपी में कोरोना संकट के दौरान निवेश से जुड़े आंकड़े राहत देने वाले हैं. राज्य सरकार ने 40 से अधिक नए निवेश प्रस्तावों को आकर्षित करने में सफलता प्राप्त की है. इनमें जापान, अमेरिका (यूएस), यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, जर्मनी, दक्षिण कोरिया आदि 10 देशों की कंपनियों से लगभग 45,000 करोड़ रुपये के निवेश-प्रस्ताव मिले हैं.


ADVERTISEMENT