भारत-पाक सीमा पर बीएसएफ का सर्च ऑपरेशन, मुठभेड़ में तीन नशा तस्कर ढेर, ऑपरेशन जारी


खुफिया सूचना के आधार पर सीमा सुरक्षा बल (Border Security Force) की 103 बटालियन ने शुक्रवार देर रात पोस्ट ढल के पास सीमा पर सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान पाकिस्तान द्वारा भारत में बड़ी मात्रा में हथियार व नशे की खेप पहुंचाने का खुलासा हुआ। सर्च आपरेशन के दौरान बीएसएफ व नशा तस्करों के बीच मुठभेड़ भी हुई, जिसमें तीन नशा तस्कर ढेर हो गए। तीनों तस्करों के शव बरामद कर लिए गए हैं। अभी उनकी पहचान नहीं हो पाई है। आशंका जताई जा रही है कि अभी और भी शव बरामद हो सकते हैं।मौके से एक राइफल व पिट्ठू बैग बरामद हुए हैं। बीएसएफ अधिकारी आज मामले का खुलासा करेंगे। 

इससेे पहले बीएसएफ के गुरदासपुर सेक्टर के तहत आने वाली बीओपी चंदू बडाला के पास 89 बटालियन के जवानों और एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) ने चार किलो 290 ग्राम हेरोइन बरामद की थी। पाकिस्तानी तस्करों से हेरोइन मंगवाने वाले सुखविंदर सिंह नाम के युवक को भी काबू किया गया था। आरोपित ने हेरोइन के पांच पैकेट खेत में दबाई एक पाइप में छिपाए थे।

बीएसएफ के सेक्टर गुरदासपुर के डीआइजी राजेश शर्मा ने बताया कि एसटीएफ और बीएसएफ ने शुक्रवार को सीमा पर कंटीली तार के पार संयुक्त सर्च ऑपरेशन चलाया था। इस दौरान प्लास्टिक की पाई में डालकर खेत में दबाए गए हेरोइन के पांच पैकेट बरामद किए गए। हेरोइन गांव चंदू वडाला (खासा) के ही रहने वाले युवक सुखविंदर सिंह काका ने पाकिस्तानी तस्करों से मंगवाई थी और खेत में दबा दी थी। गांव के सरपंच जगदीश सिंह ने बताया कि कंटीली तार के पार उसके खेत हैं। वह अकसर खेती के लिए कंटीली तार के पार जाता रहता था। नशा तस्करी कर युवक ने गांव को नाम बदनाम किया है।

बीएसएफ के जवानों ने बरामद की चार किलो हेरोइन

वहीं, फाजिल्का में शुक्रवार को सर्च अभियान के दौरान बीएसएफ जवानों ने बीओपी मुहार सोना बीओपी के पास एक खेत से चार किलो हेरोइन बरामद की थी। राजू तिरके कंपनी कमांडर 96 बटालियन बीएसएफ रामपुरा ने बताया कि वह जीरो लाइन पर साथी कर्मचारियों के साथ भैणी गांव मुहार जमशेर के पास मौजूद थे। इस दौरान उन्होंने एक खेत से पाकिस्तान की ओर से फेंकी 4.25 किलोग्राम हेरोइन बरामद की है।

ADVERTISEMENT