कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर फटने से मरीज की मौत, कांग्रेस ने लगाया लापरवाही का आरोप


कोविड अस्पताल (केंद्रीय अस्पताल) में शुक्रवार को ऑक्सीजन सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया। इस घटना में झरिया के एक कोरोना पॉजिटिव मरीज श्याम साव (55) की मौत हो गई। हालांकि, जिला प्रशासन ने सिलेंडर ब्लास्ट होने से मौत की सूचना को अफवाह बताया है। प्रशासन का कहना है कि पॉजिटिव मरीज की तबीयत ज्यादा खराब थी, जिससे उसकी मौत हो गई। इसे लेकर राजनीति में शुरू हो गई है।

दरअसल, हेमंत सरकार में शामिल कांग्रेस ने घटना के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस जिलाध्‍यक्ष ब्रजेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि इसमें जो भी दोषी हो उसे सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। क्योंकि यह बहुत बड़ी लापरवाही का विषय है। कांग्रेस नेता ने कहा कि ऑक्सीजन ठीक से नहीं लगाने के चलते फट गया और मरीज की मौत हो गई। इसकी जांच होनी चाहिए।

क्या है मामला : कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर में फटने से एक कोरोना पॉजिटिव मरीज जख्मी हो गया, जिसकी बाद में मौत हो गई। वह झरिया के शिव मंदिर रोड का निवासी था। पहले तो अस्पताल प्रशासन इस पूरे मामले को दवाने में लगा रहा। हालांकि, जब मरीज की मौत हो गई तो उसके परिजनों को घटनी की सूचना दी गई। वहीं, घटना के संबंध में सिविल सर्जन को सूचना नहीं है। इधर, घटना के बाद से ही अस्पताल में भर्ती मरीजों में डर व्याप्त है। बता दें कि 100 बेड के इस अस्पताल में फिलहाल 80 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती हैं।

जिला प्रशासन ने बताया अफवाह : हालांकि, जिला प्रशासन ने इससे इन्कार किया है। डीसी ने कहा कि कोविड अस्पताल में भर्ती पॉजिटिव मरीज की मृत्यु उनकी तबीयत अत्यधिक खराब होने के कारण हुई है। उन्होंने ऑक्सीजन सिलेंडर ब्लास्ट होना से मरीज की मृत्यु की सूचना को अफवाह बताया। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर किन कारणों से पॉजिटिव मरीज की मौत हुई है? अगर मरीज की तबीयत अत्यधिक खराब थी तो समय रहते उसका उचित इलाज क्यो नहीं संभव हो सका? फिलहाल इन सवालों के जवाब आने बाकि हैं कि मरीज की मौत किसकी लापरवाही से हुई है।

ADVERTISEMENT