पश्चिम बंगाल के कलिम्पोंग नगर पालिका में आज से एक हफ्ते के लिए शुरू हुआ लॉकडाउन


कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के मकसद से पूरे बंगाल में लगाए गए पूर्ण लॉकडाउन के चलते जनजीवन की रफ्तार थम सी गई। पश्चिम बंगाल के कलिम्पोंग नगर पालिका में आज सुबह 9 बजे से एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन शुरू हुआ।

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के मकसद से पूरे बंगाल में लगाए गए पूर्ण लॉकडाउन के चलते  जनजीवन की रफ्तार थम सी गई। हफ्ते में दो दिन पूर्ण लॉकडाउन लगाने की राज्य सरकार की योजना के तहत राज्य की सभी दुकानें, बाजार, सरकारी व निजी कार्यालय, व्यापारिक प्रतिष्ठान आदि बंद रहीं और परिवहन के सभी माध्यम सड़कों से नदारद रहे। इस हफ्ते यह दूसरे दिन लॉकडाउन था। इससे पहले गुरुवार को पूर्ण लॉकडाउन रखा गया था। इधर, कोलकाता सहित पूरे राज्य में सुबह से ही सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी प्रकार की गतिविधियां बंद रहीं।

पश्चिम बंगाल के कलिम्पोंग नगर पालिका में आज सुबह 9 बजे से एक हफ्ते के लिए लॉकडाउन शुरू हुआ।कोलकाता एयरपोर्ट से भी इस दिन सभी विमानों की आवाजाही रही। हावड़ा और सियालदह स्टेशनों पर कई ट्रेनें भी रद्द कर दी गईं। राज्य सरकार के निर्देशानुसार सुबह 6 बजे से लेकर रात्रि 10 बजे तक पूर्ण लॉकडाउन का पालन किया गया और इस दौरान बेवजह घरों से निकलने पर पूरी तरह प्रतिबंध रहा। लॉकडाउन के दौरान केवल दवा की दुकानों और स्वास्थ्य प्रतिष्ठानों को खुला रखने की अनुमति थी।

इधर, लॉकडाउन को सफल बनाने व बिना वैध कारण के सड़कों पर निकलने वाले लोगों पर नजर रखने के लिए कोलकाता सहित पूरे राज्य में सभी बड़े चौराहों पर पुलिस ने गश्त की। अधिकारियों ने बताया कि लोगों को घर से बाहर निकलने से रोकने के लिए विभिन्न हिस्सों में अवरोधक भी लगाए गए। वाहन लेकर व पैदल सड़कों पर निकलने वालों से कड़ाई से पूछताछ के साथ जरूरी कारण नहीं बताने पर वाहन जब्त करने के साथ बड़ी संख्या में गिरफ्तारियां भी की गई।

कोलकाता में ड्रोन से भी नजर रखी गई। इससे पहले लॉकडाउन के पहले दिन गुरुवार को 3,800 से अधिक लोगों को लॉकडाउन संबंधी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने के लिए गिरफ्तार किया गया। उधर, अगले सप्ताह इसी तरह का पूर्ण लॉकडाउन बुधवार, 29 जुलाई को होगा। उस दिन भी कोलकाता हवाईअड्डे पर विमानों के परिचालन पर रोक रहेगी, क्योंकि राज्य सरकार ने नगर विमानन मंत्रालय से अनुरोध किया है कि लॉकडाउन के दौरान किसी भी उड़ान का परिचालन न किया जाए। गौरतलब है कि बंगाल में शुक्रवार तक 53,973 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं और 1,290 लोगों की इस महामारी से अब तक मौत हो चुकी है। 

ADVERTISEMENT