अम्फान के बाद अब निसर्ग चक्रवात की आफत, महाराष्ट्र-गुजरात में अलर्ट


कोरोना संकट और चक्रवात अम्फान के बाद भारत पर अब एक और मुसीबत आती दिखाई दे रही है. अरब सागर से उठा चक्रवाती तूफान निसर्ग आज या कल मुंबई और आसपास के इलाकों से टकरा सकता है. चक्रवात निसर्ग तेजी से देश के पश्चिमी इलाकों की ओर बढ़ रहा है, ऐसे में राज्य और केंद्र पूरी तरह से अलर्ट पर हैं.

मौसम विभाग के अनुसार, ये चक्रवात उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने के बाद हरिहरेश्वर (रायगढ़, महाराष्ट्र) और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से 3 जून की शाम या रात तक टकरा सकता है.

हरिहरेश्वर शहर मुंबई और पुणे दोनों से 200 किलोमीटर की दूरी पर और दमन से 360 किलोमीटर की दूरी पर है.


मौसम विभाग के मुताबिक, इसके दो जून की सुबह तक उत्तर की ओर बढ़ने और फिर उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ने के बाद हरिहरेश्वर (रायगढ़, महाराष्ट्र) और दमन के बीच उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के तटों से तीन जून की शाम या रात तक टकराने की प्रबल संभावना है.

जब यह एक भयंकर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा तो हवा की गति 105 से 115 किमी प्रति घंटा होगी और इसकी गति तीन जून को सुबह 5.30 बजे 125 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाएगी.

चार जून को शाम 5.30 बजे यह चक्रवात कमजोर पड़ जाएगा और हवा की गति 60 से 70 किमी प्रति घंटा तक रह जाएगी.

महाराष्ट्र और गुजरात में चक्रवात से पहले अलर्ट जारी कर दिया गया है, क्योंकि यहां तीन जून को राज्यों के कुछ हिस्सों में बहुत भारी बारिश होने की संभावना है. मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे अगले कुछ दिनों तक समुद्र में न जाएं.

गृह मंत्री अमित शाह ने भी बीते दिनों चक्रवात को लेकर अहम बैठक की, जिसमें एनडीआरएफ समेत अन्य एजेंसियां शामिल रहीं. इसके अलावा गृह मंत्री ने महाराष्ट्र, गुजरात के मुख्यमंत्रियों से विस्तार से चर्चा की.

ADVERTISEMENT