ऋषि कपूर का मुबई के अस्पताल में निधन


मुंबई : दिग्गज बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर ने गुरुवार सुबह 8.45 बजे मुंबई के एनएच. रिलायंस हॉस्पिटल में अंतिम सांसे ली। उन्हें कल ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीयत खराब चल रही थी. 

महानायक अमिताभ बच्चन ने ऋषि कपूर के निधन की जानकारी दी है. 
अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर लिखा- वो गया. ऋषि कपूर गए. अभी उनका निधन हुआ. मैं टूट गया हूं. कपूर फैमिली से रणधीर कपूर ने ऋषि के निधन की खबर को कंफर्म किया है. बता दें, ऋषि कपूर को बुधवार उनके परिवार ने एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया था. उनके भाई रणधीर ने बताया था कि उन्हें सांस लेने में समस्या हो रही थी.

29 अप्रैल को हिंदी सिनेमा ने एक्टर इरफान खान को खोया था. अब इरफान के निधन के 1 दिन बाद 30 अप्रैल को ऋषि कपूर अलविदा कह गए. बैक टू बैक दो दिग्गज अभिनेताओं को गवां देना फिल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत बड़ा झटका है. ऋषि कपूर के निधन से देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी है. सोशल मीडिया पर सेलेब्स और फैंस एक्टर के निधन पर शोक जता रहे हैं. बता दें, ऋषि कपूर ने हिंदी सिनेमा में बड़ा योगदान दिया था. उन्होंने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया था.

बुधवार को सिनेमा के दिग्गज अभिनेताओं में शुमार इरफान खान ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। ऐसे में अब एक और बड़ी दुखद खबर सामने आई है। अभिनेता अमिताभ बच्चन ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है कि ऋषि कपूर का निधन हो गया है। सोशल मीडिया पर अमिताभ के इस ट्वीट के सामने आते ही फैंस और सितारों ने श्रद्धांजलि देना और शोक जाहिर करना शुरू कर दिया है।

अमिताभ बच्चन ने आज सुबह नौ बजकर 32 मिनट पर ट्वीट किया। अमिताभ ने अपने ट्वीट में लिखा, ' वो चले गए.. ऋषि कपूर... वो चले गए.. उनका निधन हो गया। मैं टूट गया हूं।' 

बीते सितंबर लौटे हैं भारत :
ऋषि कपूर ने यूएस में करीब 1 साल इलाज करवाने के बाद बीते सितंबर भारत लौटे थे। फरवरी में तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें दो बार अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 

ऋषि कपूर को बुधवार उनके परिवार ने एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया था. रणधीर ने कहा था कि वह अस्पताल में हैं. वह कैंसर से पीड़ित हैं और उन्हें सांस लेने में समस्या हो रही है, इसलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनकी हालत अब स्थिर है. लेकिन उन्हें क्या पता था कि दूसरी सुबह ही देशवासियों को यह दुखद समाचार देना पड़ेगा।

ऋषि कपूर पिछले साल सितंबर में अमेरिका से भारत लौटे थे. वहां करीब एक साल तक उनका कैंसर का इलाज चला था. वर्ष 2018 में खबर आई थी कि वो कैंसर से पीड़ित हैं, जिसके बाद करीब एक साल तक वो न्यूयॉर्क में ही रहे और उनका इलाज चला. उनकी पत्नी नीतू सिंह मुश्किल घड़ी में उनके साथ खड़ी रहीं. ऋषि कपूर जब न्यूयॉर्क में इलाज के लिए थे तो नीतू सिंह उनके साथ ही रहीं.

ऋषि कपूर ने भी एक इंटरव्यू में नीतू सिंह की खूब तारीफ की थी. ऋषि कपूर ने नीतू कपूर को धन्यवाद दिया था. उन्होंने कहा था कि बिना नीतू के ये सब संभव नहीं था. ऋषि कपूर ने कहा कि नीतू मेरे साथ चट्टान की तरह खड़ी रहीं. बिना उनके मैं कुछ नहीं कर सकता था.
और जिस तरीके से ऋषि कपूर चले गये वह सचमुच में एक बड़ा झटका है।

ऋषि कपूर एक ऐसे खानदान से ताल्लुक रखते थे जिसनें बॉलीवुड के 100 सालो में से 85 वर्ष का योगदान दिया है। वह कपूर खानदान की तीसरी पीढ़ी से थे। ऋषि कपूर ने अपने फ़िल्मी करियर में दर्जनों फ़िल्में की हैं। इस दौरान उन्होंने कई अवार्ड भी अपने नाम किये। साल 2008 में ऋषि कपूर को फिल्म फेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी नवाजा गया। इससे पहले उनकी पहली फिल्म में शानदार भूमिका के लिए 1971 में राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त किया।

ऋषि कपूर का जन्म 4 सितम्बर 1952 को मुंबई के चेंबूर में कपूर घराने मे हुआ था। ऋषि कपूर बॉलीवुड के शो मैन यानी स्वर्गीय राज कपूर के मंझले बेटे और अपने जमाने के मशहूर निर्माता निर्देशक-अभिनेता पृथ्‍वीराज कपूर के पोते थे। 

उन्होंने कई हिट फिल्में दी : बॉबी, यादों की बारात, कर्ज, लैला-मजनू, चांदनी, नसीब, अमर अकबर ऐंथनी, कुली, सागर सहित सैकड़ों ऐसी यादगार फिल्में है जिसने उन्हें सचमुच स्टार बना दिया.
ऋषि कपूर को युवा शक्ति परिवार की ओर से भावपूर्ण श्रद्धांजलि..