About Me

header ads

नाथ के द्वार पर कमलनाथ के विधायक, अब भगवान भरोसे है एमपी सरकार


मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर घिरे संकट के बादल छंटने का नाम नहीं ले रहे हैं. एमपी के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ कमल का हाथ थाम लिया है. इसके साथ ही उनके कई समर्थक विधायकों ने भी इस्तीफे की घोषणा कर रखी है. ऐसे में कमलनाथ सरकार को लेकर कांग्रेस विधायकों को अब नाथ का ही भरोसा है.

यही वजह है कि जयपुर के रिजॉर्ट में रुके कांग्रेस के सभी विधायक शुक्रवार को राजस्थान में धार्मिक यात्रा पर निकले थे. इन लोगों ने खाटू श्याम जी और सालासर बालाजी के दर्शन किए. विधायकों ने कहा कि हम मध्य प्रदेश की खुशहाली के लिए भगवान से प्रार्थना करने आए हैं और हमारी सरकार भी बालाजी बचाएंगे.

स्वास्थ्य मंत्री बोले- आतंक के खात्मे के लिए बालाजी के दर्शन करने आए

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री बच्चू सिंह ने आज तक से हुई बातचीत में कहा कि हमें भगवान पर भरोसा है और मध्य प्रदेश में लोकतंत्र का जिस तरह से गला घोंटा जा रहा है, उसका दंड भी भगवान देंगे.

मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से जब यह पूछा गया कि कोरोना वायरस को लेकर देश में कोहराम मचा हुआ है और आप यहां पर रिजॉर्ट में रुके हुए हैं तो उनका कहना था कि हमारे मध्य प्रदेश में भी आतंक मचा हुआ है और आतंक के खात्मे के लिए हम सालासर बालाजी के दर्शन करने के लिए आए हैं.

जयवर्धन सिंह बोले- सरकार विश्वास मत प्राप्त करेगी

कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बेटे जयवर्धन सिंह ने आज तक से बातचीत में कहा, "हमें बालाजी में पूरा विश्वास है कि हमें न्याय मिलेगा और कमलनाथ जी की सरकार विश्वास मत को प्राप्त करेगी".

कांग्रेस के सभी विधायक पुलिस के पहरे में और राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विश्वस्त कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की देखरेख में खाटू श्याम जी मंदिर और सालासर मंदिर दर्शन के लिए ले जाए गए थे.

मुस्लिम विधायकों को ले जाया गया था मस्जिद

मंदिर में कांग्रेस के विधायकों का उत्साह जोरों पर था. सभी विधायक मंदिर में बालाजी के जयकारे लगाते हुए चल रहे थे तो खाटू श्याम जी की गलियों में खाटू बाबा की जय-जय कर रहे थे. इसी तरह मध्य प्रदेश से राजस्थान ले जाए गए कांग्रेस के मुस्लिम विधायकों को जयपुर में जुमे की नमाज के लिए मस्जिद में ले जाया गया था.