Delhi Violence: जुमे की नमाज, जामिया में मार्च, दिल्ली पुलिस के लिए आज चुनौती भरा दिन


दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाकों में हुई हिंसा के बाद आज शुक्रवार को पहला जुमा है. पुलिस के लिए आज का दिन किसी परीक्षा से कम नहीं होने वाला है. दिल्ली पुलिस के सामने सुरक्षा-व्यवस्था की बड़ी चुनौती होगी.

बीते दिनों देश की राजधानी के कुछ इलाकों में हिंसा भड़कने के बाद पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे. यहां तक की सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस पर सख्त टिप्पणी की और कहा कि उसे Out of the box जाकर काम करना चाहिए.

चुनौती भरा दिन

जुमे की नमाज ऐसे समय पढ़ी जाएगी जब दिल्ली में तनाव का माहौल है. ऐसे में पुलिस की कोशिश होगी कि आज सब कुछ शांतिपूर्वक निपट जाए, जिसके बाद ही वह राहत की सांस ले पाएगी. दिल्ली पुलिस के लिए आज दोहरी परीक्षा का दिन है. एक ओर जहां पुलिस का सारा फोकस नॉर्थ-ईस्ट इलाके में होगा तो वहीं साउथ दिल्ली के जामिया में जुमे की नमाज पढ़ने के बाद मार्च निकाला जाएगा.

ये मार्च जामिया के जामा मस्जिद से सेंट्रल कैंटीन तक निकाला जाएगा. पुलिस की कोशिश होगी कि ये मार्च शांतिपूर्वक निकल जाए और कोई भी अप्रिय घटना न हो.

अब काबू में हालात

नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में तीन दिनों की हिंसा के बाद हालात अब काबू में हैं. बीते दो दिनों से हिंसा की कोई खबर नहीं आई है जो पुलिस के लिए बड़ी राहत की बात है. दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने गुरुवार को कहा कि पुलिस ने 48 एफआईआर दर्ज की है और 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने हिंसा के कई सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले हैं. कई लोगों की पहचान हो चुकी है. गिरफ्तारी के लिए रेड चल रही है. उन्होंने कहा कि नार्थ ईस्ट दिल्ली में फिलहाल शांति है.

38 लोगों की मौत के बाद दिल्ली पुलिस अब हरकत में आई है. गुरुवार को हिंसा की जांच के लिए दिल्ली पुलिस अपराध शाखा के तहत एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया. सभी एफआईआर को एसआईटी को ट्रांसफर कर दिया गया है.

जांच के लिए 2 अलग-अलग टीम बनाई गई है. एक टीम को DCP राजेश देव लीड करेंगे. वहीं एक टीम को जॉय टर्की लीड करेंगे. दोनो टीमों में चार-चार ACP होंगे. ACP क्राइम बीके सिंह की अगुवाई में यह SIT काम करेगी.

घिरे AAP पार्षद ताहिर हुसैन

दिल्ली हिंसा में आम आदमी पार्टी के पार्षद ताहिर हुसैन घिर गए हैं. उनके खिलाफ हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का केस दर्ज हुआ है. ताहिर हुसैन पर आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या का आरोप है. हत्या का केस दर्ज होने के बाद ताहिर चौधरी को आम आदमी पार्टी ने सस्पेंड कर दिया है.

इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने उनके घर को भी सील कर दिया है. यह कार्रवाई तब हुई जब उनके घर के छत से पत्थर, पेट्रोल बम, तेजाब के पैकेट और गुलेल पाए गए. आरोप है कि ताहिर हुसैन के घर के छत से ही पत्थरबाजी हुई.