About Me

header ads

ममता बनर्जी का हेलिकॉप्टर रास्ता भूला, जांच शुरू

कोलकाता । बंगाल प्रशासन ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के हेलीकॉप्टर के हवा में करीब आधे घंटे तक राह भटकने की जांच शुरू कर दी है। बुधवार दोपहर ममता बनर्जी सिलीगुड़ी से उत्तर दिनाजपुर के चोपड़ा में जनसभा करने के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना हुई थी लेकिन हवा में उनका हेलीकॉप्टर रास्ता भटक गया था और करीब आधे घंटे देर से लैंड किया। 
मिली जानकारी के मुताबिक हेलीकॉप्टर सिलीगुड़ी से दोपहर लगभग 1.05 बजे रवाना हुआ और दोपहर 1.27 बजे रैली स्थल पर उतरना था लेकिन दोपहर दो बजे कार्यक्रम स्थल पर पहुंचा। इससे मुख्यमंत्री की रैली में देरी हुई। जनसभा में मुख्यमंत्री ने स्वय: इसकी जानकारी देते हुए कहा कि मुझे क्षमा करें। मुझे देर हो गई क्योंकि हमने कार्यक्रम स्थल के लिए हवा में अपना रास्ता खो दिया था। हम 22 मिनट में पहुंचने वाले थे लेकिन हमें 55 मिनट लग गए हैं। लेकिन भगवान का शुक्र है कि आज आकाश में थोड़ी धूप थी और कोई समस्या नहीं हुई। 
प्राथमिक जांच में पता चला है कि पायलट सीधे चोपड़ा के लिए उड़ान भरने के बजाय गलती से पड़ोसी राज्य बिहार में घुस गए थे। हालांकि पायलट के राह भटकने की जानकारी मुख्यमंत्री की जनसभा का प्रबंधन कर रहे अधिकारियों की टीम में मौजूद एयर ट्रेफिक अभियंताओं को लग गई थी जिसके बाद लगातार कम्युनिकेशन किया गया और अंत में चोपड़ा में जहां मुख्यमंत्री के हेलीकॉप्टर को लैंड होना था वहां से रंगीन धुआं फायर किया गया। उसे देखने के बाद उसे फॉलो करते हुए पायलट जनसभा स्थल पर पहुंचा। अब राज्य सरकार ने उसकी जांच शुरू की है कि आखिर ऐसा कैसे हुआ कि पायलट रास्ता भटक गया और बंगाल के बजाय बिहार जा पहुंचा। बंगाल की मुख्यमंत्री को जेड प्लस सुरक्षा कवर प्राप्त है और इसलिए, इस घटना ने नागरिक और पुलिस प्रशासन को मुश्किल में डाल दिया है। बिहार के अलावा बांग्लादेश की सीमा से चोपड़ा की निकटता ने इस घटना के महत्व को और बढ़ा दिया है।