About Me

header ads

विधानसभा चुनाव से पहले बदले-बदले से नजर आ रहे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल


दिल्ली की सत्ता पर दूसरी बार काबिज होकर पहली बार पांच साल का कार्यकाल पूरे करने जा रही आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मिजाज इन दिनों बदले-बदले से नजर आ रहे हैं. 2019 लोकसभा चुनाव के बाद केजरीवाल, केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के साथ बिना झगड़े के मिलजुलकर काम करने को तैयार हैं. इतना ही नहीं हाल के कई मौकों पर सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार का समर्थन और धन्यवाद भी किया है.

झगड़े वाली राजनीति से दूर अरविंद केजरीवाल जनता के बीच एक नई छवि बनाने की कोशिश में जुटे नजर आ रहे हैं. इसके पीछे उनकी मंशा विधानसभा चुनाव से पहले जनता को सकारात्मक संदेश देने की है. वह यह कि दिल्ली सरकार के संबंध केंद्र के संग सुधर गए हैं और अब आगे दिल्ली में विकास कार्य बिना रुकावट या तनाव के होते रहेंगे.

अरविंद केजरीवाल के बदले मिजाज पर आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कई वजहें गिनाईं. मोदी सरकार को लेकर नरम रवैये के सवाल पर सौरभ ने कहा कि आप को जब-जब मोदी सरकार की योजनाएं जनहित की लगती हैं, तब-तब पार्टी उनका समर्थन करती है. जब पीएम नरेंद्र मोदी पहली बार चुनकर आये तब स्वच्छ भारत अभियान, योग दिवस को दिल्ली सरकार ने आगे बढ़ाने का काम किया.

उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करें. क्योंकि आप सरकार केंद्र सरकार का कुछ नहीं रोक सकती, लेकिन केंद्र सरकार कभी भी दिल्ली सरकार का ऑक्सीजन रोक सकती है. आप नेता ने लोकसभा चुनाव के बाद सोशल मीडिया से लेकर मीडिया तक, अरविंद केजरीवाल के मोदी सरकार पर बदले तेवर के सवाल पर कहा कि इसका मूल कारण सुप्रीम कोर्ट का फैसला है.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पिछले साल जुलाई से पहले हर फाइल एलजी के पास रुकती थी, सरकार के काम रुकते थे. लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद टकराव कम हुआ है जिसे लोगों ने सराहा भी है. हालांकि चुनाव में एक दूसरे की कमियां गिनाई जाती हैं.

मिजाज के साथ बदली विज्ञापनों में तस्वीर

दिलचस्प बात यह है कि अरविंद केजरीवाल का राजनीतिक मिजाज ही नहीं, बल्कि सरकारी विज्ञापनों में नजर आने वाली तस्वीर और पहनावे में भी एक बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है. हाल ही में दिल्ली सरकार की ओर से जारी हुए एक विज्ञापन में अरविंद केजरीवाल अलग अंदाज में दिखे. नई तस्वीर देखकर माना जा रहा है कि आप सरकार चुनाव के मद्देनजर न सिर्फ मिडिल क्लास बल्कि शहरी और युवा वर्ग को अपनी तरफ आकर्षित करने की कोशिश भी कर रही है.



शहरी और युवा वोटरों को देखकर तस्वीरें और संवाद

आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने अरविंद केजरीवाल के नए लुक पर कहा कि केजरीवाल सरकार सीसीटीवी, वाईफाई, जल संचयन पर काम कर रही है, जो शहरी और युवाओं के बीच चर्चा वाले मुद्दे हैं. इसलिए लुक और संवाद भी शहरी और युवा वर्ग को ध्यान में रखकर ही होना चाहिए. उन्होंने कहा कि इसके अलावा, लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में मुद्दे और लीडरशिप अलग-अलग होते हैं, आप ने तमाम शहरी विधानसभा सीटों, जैसे ग्रेटर कैलाश, कस्तूरबा नगर, शालीमार बाग, नई दिल्ली जीती हैं, ऐसे में यह कहना गलत होगा कि सिर्फ गरीब आदमी ने चुनाव जिताया.

इन मौकों पर मोदी सरकार का किया धन्यवाद अथवा समर्थन

आइये, आपको बताते हैं कि 2019 लोकसभा चुनाव के बाद किन-किन मौकों पर अरविंद केजरीवाल ने मोदी सरकार का धन्यवाद या समर्थन किया :-

1. प्रधानमंत्री से मुलाकात, साथ काम करने का किया वादा

21 जून को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी. इस मुलाकात में अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली के विकास के लिए केंद्र और राज्य, दोनों सरकारों को साथ मिलकर काम करना चाहिए.

2. ओखला ट्रीटमेंट प्लांट

8 जुलाई को ओखला में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के शिलान्यास मौके पर भी मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया था. उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार के सहयोग के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया. मुझे विश्वास है कि हम मिलकर यमुना नदी को जल्द साफ करने में जरूर कामयाब होंगे.

3. कच्ची कॉलोनियों पर धन्यवाद

18 जुलाई को सीएम ने दिल्ली सरकार के नवंबर 2015 के कच्ची कॉलोनी संबंधी प्रस्ताव को केंद्र सरकार की ओर से मंजूरी दिए जाने पर धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों की ओर से केंद्र सरकार का बहुत-बहुत शुक्रिया. अब जल्द रजिस्ट्री करने की तैयारियां शुरू.

4. अपराध पर करेंगे केंद्र का सहयोग

30 जुलाई को मुख्यमंत्री ने दिल्ली में बढ़ रहे अपराध पर चिंता जाहिर की. उन्होंने कहा कि गंभीर मामले को अनदेखा करने से स्थिति खराब होगी. हम केंद्र और उपराज्यपाल के साथ सहयोग करने के लिए तैयार हैं. इस समस्या का हल जरूर निकले.

5. अनुच्छेद 370 हटाने का समर्थन

5 अगस्त को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने और जम्मू कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के फैसले का भी समर्थन किया था.

6. जल संचयन पर पायलट प्रोजेक्ट साथ-साथ

9 अगस्त को सुंगरपुर गांव में यमुना किनारे तालाब खोदने के पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत होने पर मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री को धन्यवाद दिया था. इससे पहले भी केजरीवाल ने परियोजना की मंजूरी मिलने पर केंद्र की मोदी सरकार और एनजीटी को धन्यवाद दिया था.

7. अब सरकारी पोस्टर में भी बराबर दिया स्थान

पोस्टरों की तस्वीरों पर राजनेता खास ध्यान देते हैं. अब दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार के मंत्रियों को अपने पोस्टरों में बराबर स्थान देना शुरू कर दिया है. 9 अगस्त को सुंगरपुर में यमुना के किनारे तालाब खुदाई परियोजना के शुभारंभ के मौके पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की फोटो भी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फोटो के बराबर लगाई गई थी.

दरअसल 8 जुलाई को ओखला में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के शिलान्यास के मौके पर दिल्ली सरकार ने तमाम जगहों पर पोस्टर लगाए थे, जिसमें सिर्फ सीएम केजरीवाल की तस्वीर थी. इस पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने हल्के अंदाज में आपत्ति जताई थी, तब मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया था कि आगे से ध्यान रखेंगे.

पहले रहे थे हमलावर

अरविंद केजरीवाल के बदले हुए मिजाज से पहले आप के नेता केंद्र सरकार पर दिल्ली के विकास कार्यों में रोड़ा डालने का आरोप लगाते रहे हैं. लोकसभा चुनाव के दौरान कई मौकों पर पीएम मोदी और बीजेपी सरकार के खिलाफ मुख्यमंत्री द्वारा तीखी बयानबाजी भी देखने को मिली है. हालांकि लोकसभा चुनाव के बाद अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है.