About Me

header ads

महबूबा मुफ्ती बोलीं- अमरनाथ यात्रा के नाम पर कश्मीरियों को न किया जाए परेशान


जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अमरनाथ यात्रा और कश्मीरियों को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'हम अमरनाथ यात्रा का समर्थन करते हैं, लेकिन सुरक्षा के नाम पर कश्मीर के स्थानीय लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.'

इस दौरान पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर से हुर्रियत नेताओं से बातचीत का राग भी अलापा है. उन्होंने कहा, 'हुर्रियत का उदारवादी गुट कह रहा है कि वह बातचीत के लिए तैयार है. अगर हुर्रियत नेता बातचीत के लिए तैयार हैं, तो केंद्र सरकार को इस अवसर का इस्तेमाल करना चाहिए और हुर्रियत नेताओं के साथ बातचीत शुरू करनी चाहिए.'

जम्मू-कश्मीर में फिलहाल राज्यपाल शासन लगा हुआ है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में जम्मू-कश्मीर के चुनाव 6 महीने बाद करवाने के लिए कहा था. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन 6 महीने के लिए बढ़ाने से जुड़ा प्रस्ताव लोकसभा में रखते हुए कहा था कि जम्मू कश्मीर में अभी विधानसभा चुनाव कराने का माहौल नहीं है. इसलिए 6 महीने के लिए और राष्ट्रपति शासन बढ़ाया जाए. वहीं कांग्रेस ने जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन को बढ़ाए जाने के सरकार के प्रस्ताव का विरोध किया. 3 जुलाई 2019 से 6 महीने का वक्त शुरू हो गया था.

घाटी के हालात अभी भी सामान्य नहीं हैं. जम्मू कश्मीर के अलगाववादी संगठनों के संयुक्त मंच ज्वाइंट रेजिस्टेंस लीडरशीप (जेआरएल) ने 7 जुलाई, रविवार को घाटी में पूर्ण बंद का आह्वान किया. आतंकवादी बुरहान वानी की तीसरी बरसी पर यह बंद बुलाया गया है.