About Me

header ads

प्रचंड गर्मी और बढ़ता जल संकट, कई राज्यों में तापमान 44 डिग्री से पार


इन दिनों आसमान से जैसे आग बरस रही है. एक ओर तो प्रचंड गर्मी का प्रकोप है, तो दूसरी ओर हमारे गांव, कस्बे और शहर पानी की कमी से जूझ रहे हैं. चापाकल सूखने लगे हैं. कूपों का जल स्तर गिर गया है. गर्मी के साथ-साथ पेय जल का भारी संकट भी उत्पन्न हो गया है.

इन दिनों लगभग आधा देश प्रचंड गर्मी की चपेट में है. देश के 10 राज्यों में  तापमान 44 डिग्री सेल्सियस को पार कर गया है.

इनमें राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना, बिहार, झारखंड और महाराष्ट्र के अनेक शहर शामिल हैं. राजस्थान के श्रीगंगानगर में पारा 49.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जो 75 साल का सर्वाधिक तापमान है. इससे पहले वहां 30 मई, 1944 को अधिकतम तापमान 49.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. 

राजस्थान के ही चुरू में तापमान 48.5 और बीकानेर में 46.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग को राजस्थान के 27 जिलों में तीन दिन के लिए रेड अलर्ट जारी करना पड़ा है.